विधायक दल ने ली जिले के जलाशयों में पानी की उपलब्धता की जानकारी ज ल संसाधन विभाग के अधिकारियों की संक्षिप्त बैठक लेकर की समीक्षा

93

अंगारमोती माता के दर्शन कर प्रदेश की समृद्धि के लिए मांगा आशीर्वाद

धमतरी| प्रदेश के वरिष्ठ विधायकों का दल आज सुबह गंगरेल जलाशय स्थित विश्रामगृह में पहुंचा, जहां पर जिले के जलाशयों में जलभराव की स्थिति की जानकारी ली। कोंडागांव विधायक श्री मोहन मरकाम, रायपुर ग्रामीण विधायक श्री सत्यनारायण शर्मा, अभनपुर विधायक श्री धनेन्द्र साहू तथा बस्तर विधायक श्री लखेश्वर बघेल ने आज जिले के प्रवास के दौरान जल संसाधन विभाग के रेस्ट हाउस में विभागीय अधिकारियों की बैठक ली। इस दौरान कलेक्टर श्री पी.एस. एल्मा ने बताया कि पिछले कुछ सप्ताह से बारिश होने से फिलहाल खेतों को पानी मिल रहा है। उन्होंने कहा कि जिले के चारों जलाशयों में अभी औसतन 46 प्रतिशत जलभराव है, जिसमें रविशंकर सागर गंगरेल जलाशय में 42 प्रतिशत, दुधावा में 29 प्रतिशत, सोंढूर में 52 तथा बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव मुरूमसिल्ली जलाशय में 62 प्रतिशत जलभराव है।

बैठक में कार्यपालन अभियंता जल संसाधन विभाग श्री एमडी महंत ने बताया कि वर्तमान में जिले के चारों जलाशयों में 21.17 टीएमसी जलभराव है, जिसमें 12.85 टीएमसी पानी भिलाई इस्पात संयंत्र, नगर निगम रायपुर व धमतरी के पेयजल तथा निस्तारी के लिए आरक्षित है, जबकि कृषि के लिए 8.32 टीएमसी जल की उपलब्धता है। पानी की आवक की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह से हो रही बारिश से गंगरेल जलाशय में 3348 क्यूसेक, मुरूमसिल्ली में 926, दुधावा में 197 और सोंढूर जलाशय में 1355 क्यूसेक पानी की आवक आज की स्थिति में बनी हुई है। साथ ही यह भी बताया गया कि जिले की वार्षिक औसत वर्षा 1240 मिलीमीटर है, जबकि अब तक 700 मिलीमीटर बारिश हुई है, इस तरह औसत वर्षा से 500 मिलीमीटर कम पानी उपलब्ध है। इस पर विधायकों द्वारा पूछे जाने पर कार्यपालन अभियंता ने बताया कि अगर आज की स्थिति में रविशंकर जलाशय से कृषि कार्य के लिए पानी छोड़ा जाता है, तो यह सिर्फ 12 से 15 दिनों तक के लिए उपलब्ध हो पाएगा।
बैठक के उपरांत विधायकों ने मां अंगारमोती मंदिर में जाकर पूजा-अर्चना की तथा प्रदेशवासियों के अमन-चैन, खुशहाली व समृद्धि के लिए आशीर्वाद मांगा। इस अवसर पर विधानसभा कार्यालय के सेक्शन ऑफिसर डॉ. बलराम शुक्ला, पर्यटन विभाग के ऑपरेशन चीफ श्री दिलीप आचार्य, सीनियर मैनेजर श्री टी.एन. सिंह, वरिष्ठ नागरिक द्वय श्री शरद लोहाणा और श्री मोहन लालवानी सहित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व धमतरी श्री चंद्रकांत कौशिक, जल संसाधन विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।