लेडिस क्लब ने बढ़ रहे अपराध पर जताई चिंता, परिवार- समाज में जागरूकता लाने ली शपथ 

453

 धमतरी | आज के समय में अपराध के बढ़ते हुए मामलो को देखते हुए और इसकी वजह को जानने और लोगो में जागरूकता लाने के उद्देश्य से लेडिस क्लब में एक ऑनलाइन परिचर्चा का आयोजन किया गया परिचर्चा में विभिन्न तत्वो पर चर्चा की गई|  समाज में क्यों अपराधों में वृद्धि हो रही है| इनके पीछे के कारण और निवारण हेतु अनेक मुद्दों पर बात की गई । प्रत्येक सदस्य ने काफी उत्साह के साथ भाग लिया और इस गंभीर विषय पर अपनी अपनी राय दी । समाज  में  लड़कियों के साथ हो रहे यौन शोषण और बाल अपराध के पीछे के कारणों पर गंभीरता से विचार विमर्श किया गया । इन दिनों हमारे समाज में अपराधो में वृद्धि देखने को मिल रही है आखिर क्या वजह है कि ऐसे अपराध प्रतिदिन हमारे सामने आते हैं जो कि मन को व्यथित कर देते है । इसके पीछे सदस्यो का विचार था कि अधिक मोबाइल एवम टीवी के उपयोग से और एकांकी जीवन जीने के कारण बच्चों को वह संस्कार नही मिल पा रहा है जो पहले के समय  में दादा दादी द्वारा  दिया जाता था । पहले परिवार के सभी सदस्य एक साथ रहा करते थे जिसमें दादा दादी, चाचा चाची एवम और भी बहुत से सदस्य होते थे जो बच्चो को सही गलत और उचित , अनुचित की जानकारी देते थे, लेकिन आज के समय में एकाकी परिवार के कारण बच्चा अपने माता-पिता के साथ रहता है | माता और पिता दोनों नौकरी पेशा होने की वजह से वे बच्चो को उतना समय नही दे पाते जितना उनको देना चाहिए| बच्चा घर पर अकेला रह जाता है और अपना समय मोबाइल और टीवी के माध्यम से व्यतीत करता है जिसका परिणाम यह होता है कि बच्चा मोबाइल और टीवी में गलत चीजों को देखता और सीखता है जिससे उसके कोमल मस्तिष्क पर गलत प्रभाव पड़ता है और बच्चा वही सब सीखता जाता है| माता पिता को इसका एहसास तब होता है जब बच्चा या तो गलत आदतों के शिकार हो जाता है या खुद किसी अपराध में शामिल हो जाता है तब उस वक्त माता पिता के पास कोई रास्ता नही रह जाता और वे नहीं समझ पाते कि अच्छी परवरिश देने के बावजूद बच्चा कैसे गलत वृत्तियों का शिकार हो गया । इन बातों की गंभीरता से  लेते हुए क्लब के लोगो ने यह शपथ ली कि हम अपने परिवार और समाज में जागरूकता अवश्य लाएंगे| लोगो को और बच्चों को इस विषय में जागरूक करेंगे ताकि बढ़ते हुए अपराधों को रोका जा सके। इस प्रोग्राम की शुरुआत क्लब के पारंपरिक भक्ति गीत से की गई और अधिक रोचक बनाने के लिए इस परिचर्चा में तरह तरह के प्रश्न भी किये गए ताकि लोगो की प्रत्येक समस्या पर चर्चा की जा सके| परिचर्चा में संचालिका उषा गुप्ता, अध्यक्ष पूजा साहू, सचिव श्रद्धा कश्यप, कोषाध्यक्ष नीता रणसिंग, ज्योति गुप्ता, कामिनी  कौशिक , भारती नायडू, बलजीत आंनद, रचना नायडू, प्रभा श्रीवास्तव, मंजू महावर, आशा गुप्ता, पम्मी रोकड़िया, रेणु खनूजा, सबीना रिजवी, बबली राजोरिया, शिरीन हाशमी, संगीत गरेवाल, शुभ्रा गौर, सरला खंडेलवाल, नीता आजमानी, माधवी शर्मा, गायत्री साहू  मौजूद थे | कार्यक्रम का संचालन क्लब की अध्यक्ष पूजा साहू ने किया|