लाॅकडाउन को लेकर कलेक्टर ने की व्यापारी संघों के प्रतिनिधियों से रायशुमारी व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को सीमित समय व कड़ी शर्तों के साथ खोले जाने पर हुई सकारात्मक चर्चा

208

लाॅकडाउन को लेकर कलेक्टर ने की व्यापारी संघों के प्रतिनिधियों से रायशुमारी
व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को सीमित समय व कड़ी शर्तों के साथ खोले जाने पर हुई सकारात्मक चर्चा
धमतरी | कोविड-19 के संक्रमण के मद्देनजर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री जयप्रकाश मौर्य ने शनिवार 15 मई तक जिले में पूर्ण तालाबंदी (लाॅकडाउन) रखने का आदेश जारी किया था। उक्त अवधि के पूर्ण होने से पहले उन्होंने शहर के विभिन्न व्यापारिक संगठनों तथा एसोसिएशन के प्रतिनिधियों की बैठक आहूत कर लाॅकडाउन के संबंध में आगे की रणनीति एवं प्रशासनिक निर्णय लेने से पूर्व उनसे रायशुमारी की। नवीन कृषि उपज मण्डी परिसर श्यामतराई में आज शाम चार बजे आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कोविड-19 के संक्रमण के खतरे को ध्यान में रखते हुए अलग-अलग व्यावसायिक संगठनों के पदाधिकारियों से उनका पक्ष एवं अभिमत जाना। चर्चा के दौरान सभी व्यापारी संगठनों के द्वारा व्यावसायिक प्रतिष्ठानों व संस्थानों को सीमित समय में तथा शासन की गाइडलाइन के अनुरूप नियमों-निर्देशों का कड़ाई से पालन करते हुए सख्त शर्तों के साथ खोले जाने पर सहमति जताई। इस पर कलेक्टर ने उनसे शासन से अपेक्षित सहयोग एवं समन्वय की अपील करते हुए जरूरी शर्तों के साथ प्रतिष्ठानों को चरणबद्ध तरीके से खोलने के प्रस्ताव को उच्च कार्यालय को प्रेषित करने की बात कही।

बैठक में कलेक्टर ने कहा कि यद्यपि वर्तमान में जिले में कोरोना के प्रकरण कम जरूर हुए हैं, लेकिन यह समय आश्वस्त होने का नहीं है। जिस तरह से अब तक जिलावासियों ने सहयोग किया, उसी तरह आगे भी गाइडलाइन का पालन होगा तो निश्चित तौर पर कोरोना के संक्रमण को काफी हद तक नियंत्रित किया जा सकेगा। उन्होंने कहा कि प्रशासन के साथ-साथ संघों के प्रतिनिधियों को अपनी सक्रिय भूमिका निभानी होगी। कलेक्टर ने स्पष्ट किया कि संघ के पदाधिकारी अपने-अपने व्यापारियों से संकल्प पत्र भरवाकर उसे दुकानों में चस्पा करें। एक समय में पांच से अधिक ग्राहकों को दुकान में प्रवेश ना दें। सही ढंग से वे खुद मास्क लगाएं और अपने कर्मचारियों को लगाने के लिए कहें। परस्पर दूरी बनाए रखते हुए बार-बार हाथों को सैनिटाइज करें। इसके अलावा कोविड की गाइडलाइन का प्रचार-प्रसार फ्लेक्स, पाॅम्पलेट तथा लाउड स्पीकर के जरिए लगातार कराने की बात कही। कलेक्टर ने कहा कि सबसे ज्यादा भीड़ सब्जी और किराना की दुकानों में एकत्रित होती है जहां संक्रमण की आशंका अधिक प्रबल रहती है। अतः ऐसी दुकानों में नियमों का विवेकपूर्ण ढंग से पालन कराने व्यापारिक प्रतिनिधि भी स्वस्फूर्त आगे आएं।
बैठक में महापौर श्री विजय देवांगन, स्पीकर श्री अनुराग मसीह, वरिष्ठ नागरिक श्री शरद लोहाणा, श्री मोहन लालवानी सहित राइस मिलर्स एसोसिएशन, चेम्बर आॅफ काॅमर्स, होटल एवं रेस्टोरेंट एसोसिएशन, थोक सब्जी व्यापारी संघ, किराना व्यवसायी संघ, सराफा एसोसिएशन, कपड़ा व्यापारी संघ, मोबाइल विक्रेता संघ, इलेक्ट्रिकल्स एवं इलेक्ट्राॅनिक्स एसोसिएशन, टायर एवं बैटरी विक्रेता एसोसिएशन, टिम्बर मार्केट संघ सहित विभिन्न संघों के प्रतिनिधियों ने अपने विचार साझा कर व्यावसायिक प्रतिष्ठानों को खोले जाने पर अपनी राय दी। इस अवसर पर एस.पी श्री बी.पी. राजभानू, जिला पंचायत के सी.ई.ओ. श्री मयंक चतुर्वेदी, ए.एस.पी. श्रीमती मनीषा ठाकुर, नगर निगम के आयुक्त श्री मनीष मिश्रा सहित विभिन्न विभाग के अधिकारीगण उपस्थित रहे।