गुजराती समाज ने संक्रांति पर्व पर मनाया पतंग उत्सव

103

धमतरी | मकर संक्रांति को देशभर में अलग-अलग नामों से जाना जाता है। उत्तर भारत में इसे मकर संक्रांति कहा जाता है। असम में इस दिन को बिहू और दक्षिण भारत में इस दिन को पोंगल के नाम से जानते हैं। मकर संक्रांति के दिन पंतगबाजी का आयोजन होता है। इस दिन बच्चे-बुजुर्ग सभी पंतग उड़ाकर मकर संक्रांति सेलिब्रेट करते हैं। मकर संक्रांति हर साल 14 जनवरी मनाई को जाती है।

गुजराती समाज धमतरी ने भी इस पर्व को बड़े हर्षौल्लास के साथ मनाया इस पर्व पर समाज की महिलाओ ने भी बड़ी संख्या में हिस्सा लिया कार्यक्रम के मुख्या अतिथि कांग्रेस के जिला अध्यक्ष शरद लोहाना थे एवं विशिष्ट अतिथि श्रीमती नलिनी बेन सोनी थी | इस अवसर पर मकर संक्रांति पर्व पर प्रकाश डालते हुए जिलाध्यक्ष शरद लोहाना ने कहा मकर संक्रांति का पर्व जब उत्तरायण में सूरज आता है तब  मनाया जाता है आज दिन और रात दोनों बराबर होते हैं कल से अंधेरे से उजाला बढ़ता जाएगा इसलिए मकर संक्रांति का पर्व मनाया जाता है इस पतंग पर्व पर शरद लोहाना ने मकर संक्रांति की ढेरों शुभकामनाएं प्रेषित करते हुए समाज के समस्त भाई बहनों को संदेश देते हुए कहा कि खुले आसमान में पतंग की भांति उड़े पर आसमान में जितनी भी ऊंचाई में जाएं पतंग की डोर जमीन पर रहे | पतंग बाजी के इस पर्व पर समाज के सभी बड़े बुजुर्ग एवं बच्चो ने बड चढ़ कर हिस्सा लिया एवं पतंग बाजी का लुफ्त उठाया |

समाज के अध्यक्ष संतोष शाह ने मुख्या अतिथि कांग्रेस के जिला अध्यक्ष शरद लोहाना का सम्मान किया एवं  विशेष अतिथि का सम्मान तरुण भाई अम्बानी ने किया मंच संचालन अनिल गाँधी ने किया |

इस अवसर पर समाज के संतोष शाह, केतन रायचुरा, अनिल गाँधी ,दिनेश अम्बानी, तरुण अम्बानी,भरत त्रिवेदी,मोहित ठक्कर,ललित मानेक,कीर्ति मुछाला,कमलेश सोनी,विशाल त्रिवेदी,लोकेश राजपुरिया महिलाओ में नलिनी सोनी, सुधा लोहाना,नीता अम्बानी,कुंदन राकुंदला,कनक शाह, सोनल सोनी,भाविका राठोर,राखी रायचुरा,भावना रायचुरा, वर्षा शाह,शीतल हरखानी, ज्योत्स्ना पटेल,नीला बेन कापडिया, हर्षा लोहाना, उषा तन्ना,तृप्ति मानेक,इला सोनी,स्वीटी लोहाना, ममता पलन,अरुणा बेन पटेल एवं समाज के लोगो ने इस पतंग उत्सव का लुफ्त उठाया |

 

tushar