अपना जीवन यापन खुद कर सकेगा दिव्यांग दुर्गा, सार्थक धमतरी ग्रुप ने ई- रिक्शा दिया उपहार में

117

दिव्यांग दुर्गा को ई- रिक्शा का उपहार, बदल गई ज़िन्दगी, ई -रिक्शा चलाकर दुर्गा अपना जीवन यापन खुद कर सकेगा सार्थक धमतरी ग्रुप ने ई- रिक्शा देकर दिव्यांग दुर्गा का जीवन सँवारा

धमतरी | शिव चौक रामसागर पारा धमतरी के दिव्यांग दुर्गा ठाकुर को “सार्थक धमतरी ग्रुप” ने दिव्यांग बने सशक्त मुहिम के अंतर्गत एक संक्षिप्त कार्यक्रम में ई- रिक्शा प्रदान किया। दुर्गा आजीविका का साधन पाकर बहुत प्रसन्न है और उसे उम्मीद है कि, वह आत्मनिर्भर होकर सुखी जीवन जी सकेगा। उसने खुशी और भावुकता के साथ हाथ जोड़कर धन्यवाद किया और कहा, इस सहयोग को वह जीवन भर याद रखेगा।

ग्रुप की संयोजिका डॉ. सरिता दोशी ने बताया कि, पांच वर्ष पूर्व हाई शुगर के कारण दुर्गा का बांया पैर घुटने के नीचे से एंप्यूटेशन के द्वारा अलग करना पड़ा। इसकी वजह से दुर्गा शारीरिक और मानसिक रूप से काफी परेशान हो गया था। और उसकी जानकारी दुर्गा के सबसे करीबी मित्र दीपनारायण शर्मा ने पिछले साल देकर बताया था कि, नवीन मिश्रा, बब्बू चावला, डिकन सिन्हा के साथ मिलकर उन्होंने दुर्गा की यथासंभव सहायता की लेकिन कोई स्थाई समाधान नहीं हो पाया। इस विषय पर संवेदनशील होते हुए सार्थक ग्रुप के सरिता दोशी और गौरव लोहाना ने दुर्गा के घर जाकर मुलाक़ात की और सारी स्थितियों को समझकर बिना विलंब किये सोशल मीडिया पर पोस्ट कर ई- रिक्शा के लिए सहयोग मांगा। डॉ. ए. के. रावत , डॉ. हनी जेथलिया,डॉ. अनिता राजपुरिया, श्रीमती रेणु भूतड़ा, मितेश राखेचा एवं बहुत से सहृदय नागरिकों के सहयोग राशि इकट्ठी की गई और ई रिक्शे का इंतज़ाम कर दुर्गा को प्रदान किया गया।

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि श्रीमती प्रभा रावत एवं विशिष्ट अतिथि श्रीमती रसीला दोशी तथा भावना दोशी थीं।
मुख्य अतिथि ने ई-रिक्शा का विधिवत उद्घाटन कर चाबी दुर्गा ठाकुर को सौंपी और शुभकामनाएं दीं।

इस कार्यक्रम में गोपाल शर्मा, मदनमोहन खंडेलवाल, बिपीन दोशी,अरविंद दोशी, मोहन अग्रवाल, प्रकाश गांधी, नादु भाई त्रिवेदी, ललित मानेक,मिहिर पटेल विशेष रूप से उपस्थित रहे।

सार्थक ग्रुप की सरिता अग्रवाल, वंदना मिराणी, स्नेहा राठौड़,हरख जैन,ज्योति पारख, ज्योति लुनिया और कीर्ति गोयल, विशाल शाह,नीरज नाहर आलोक राखेचा, ने दानदाताओं के प्रति आभार प्रेषित किया ।