सीएससी ओलम्पियाड मे धमतरी के बच्चो ने मारी बाज़ी ,शिक्षा मंत्री डाॅ प्रेमसाय सिंह टेकाम के हाथो हुए सम्मानित

218

धमतरी। केन्द्र सरकार के सभी सार्वजनिक सेवाओं को डिजिटल प्लेटफाॅम के माध्यम से जन-जन तक पहुचानें के उद्देष्य से शहरी व ग्रामीण स्तर पर काॅमन सर्विस सेन्टर की स्थापना की गई। सी.एस.सी केन्द्रों पर शैक्षणिक कौशल को बढ़ावा देने के लिए इलेक्ट्रानिक्स एवं सूचना प्रोद्योगिक मंत्रालय भारत सरकार द्वारा ओलंपियाड के माध्यम से बच्चे ऑनलाईन शिक्षा प्राप्त कर सकते है। छात्र/छात्राओं को घर बैठे विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा अन्य परीक्षा की तैयारी भी कर सकते है।

इसी तारतम्य में डी.पी.एस. की छात्रा साखी खालसा को राज्यस्तरीय सी.एस.सी ओलंपियाड में तीसरा स्थान प्राप्त होने पर गुरूवार को राजधानी रायपुर के सर्किट हाउस में आयोजित पुरस्कार समारोह में शिक्षा मंत्री डाॅ प्रेमसाय सिंह टेकाम के हाथों प्रशस्ति पत्र, स्मृति चिन्ह एवं मोबाईल देकर सम्मानित किया गया। इसमें सी.एस.सी ओलंपियाड दर्शना बाजपेयी का योगदान रहा। साखी की इस सफलता पर विद्यालय के डायरेक्टर धीरज अग्रवाल, निधि अग्रवाल ने हर्ष जताया। प्राचार्य सुप्रिया ए.पी. ने साखी को बधाई देते हुए कहा की इस योजना से छात्रों के बीच प्रतिस्पर्धा की भावना बढेगी तथा भविष्य में प्रतियोगी परीक्षाओं के बेहतर तैयारी में मदद मिलेगी। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. टेकाम ने पुरस्कृत बच्चों को बधाई और शुभकामनाएं देते हुए कहा कि कोरोनाकाल में बच्चों का पढ़ाई के प्रति रूझान बनाए रखने के साथ ही उनमें स्वस्थ प्रतिस्पर्धा का विकास करने के लिए  सीएससी द्वारा ऑनालाईन डिजिटल ओलम्पियाड का आयोजन किया गया, जो एक सराहनीय प्रयास है। डॉ. टेकाम ने कहा कि पिछले वर्ष सीएससी के द्वारा कक्षा तीसरी से 12वीं तक के विद्यार्थियों के लिए आयोजित विभिन्न विषयों की डिजिटल ओलम्पियाड में पूरे देश से 2 लाख 4 हजार बच्चों ने भाग लिया। छत्तीसगढ़ से 11 हजार बच्चों ने अपनी सहभागिता दर्ज की, जो सराहनीय है। पुरस्कार वितरण समारोह में धमतरी जिले की साखी कौर खालसा कक्षा तीसरी अंग्रेजी विषय को तृतीय पुरस्कार स्मार्ट फोन,धमतरी जिले के ऋषभ त्रिपाठी कक्षा 12वीं भौतिक विषय में प्रथम पुरस्कार लेपटॉप प्रदान किया गया।