शराब का सेवन आदिवासी समाज की संस्कृति नही – मोहन मंडावी

60

प्रभारी मंत्री अनिला भेड़िया के बयान पर भड़के सांसद

धमतरी | कांकेर लोकसभा क्षेत्र के सांसद मोहन मंडावी ने आज धमतरी प्रवास के दौरान जिला भाजपा की बैठक को संबोधित करते हुये जिले की नवनियुक्त प्रभारी मंत्री अनिला भेड़िया पर तीखा हमला किया। उन्होंने कहा कि वो भी आदिवासी समाज से आते हैं और समाज के राष्ट्रीय स्तर तक पदों पर रह कर कार्य कर चुके हैं। वे स्वयं दशकों से मानस का कार्य भी कर रहे हैं और शराब या अन्य कुव्यसनों से स्वयं भी कोसों दूर रहते हैं और समाज को भी इससे दूर रहने के लिये प्रेरित करते हैं। शराब का सेवन भारत मे किसी भी समुदाय की संस्कृति कभी नही हो सकती। श्रीमती अनिला भेड़िया के द्वारा स्वयं आदिवासी समाज से होते हुए समाज को बदनाम करने वाला बयान देना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है। कांग्रेस को यदि शराबबंदी का वादा अपने घोषणापत्र में करने से पहले विचार करना चाहिये था। गंगाजल की झूठी कसम खाने वाली कांग्रेस पार्टी अब अपने सभी वादों से मुकर गयी है।

साथ ही भुपेश बघेल अपने सहयोगी टी एस बाबा से किया अपना वादा भी भूल गये हैं। अपने हिस्से का ढाई साल भुपेश बघेल पूर्ण कर चुके हैं अब हाईकमान को किये अपने वादे के अनुसार भुपेश बघेल को मुख्यमंत्री की कुर्सी छोड़कर टी एस बाबा को किया अपना वादा निभाना चाहिये। श्री मंडावी ने प्रधानमंत्री आवास योजना जल जीवन मिशन जैसी केंद्र सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ जनता को नही मिल पाने के राज्य सरकार को दोषी करार दिया।