मातृछाया का दूसरा साक्षात रूप है नर्स-विजय मोटवानी निस्वार्थ सेवा समर्पण को कोविड काल में सिद्ध कि है नर्स-चेतन हिन्दूजा

41

अन्तर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर युवा मोर्चा द्वारा किये गये सम्मान से अभिभूत होकर भावुक हुई सिस्टर थेलमा पाँल सिग
मातृछाया का दूसरा साक्षात रूप है नर्स-विजय मोटवानी
निस्वार्थ सेवा समर्पण को कोविड काल में सिद्ध कि है नर्स-चेतन हिन्दूजा
धमतरी | लगभग 40 वर्षों तक नर्स के रूप में चिकित्सा के क्षेत्र में सेवा देने वाली समीपस्थ ग्राम मुड़ खुसरा निवासी थेलमा पाल सिगं 68 वर्षीय जिन्होंने सेवा का जुनून व लगन के कारण ही इस चुनौती पूर्ण क्षेत्र को चुनकर जीवन भर उससे जुडी रही तथा अपने दोनों बच्चों को भी इसी क्षेत्र में कार्य करने के लिए समाज को समर्पित किए ज्ञात रहे कि इन्होंने लगभग 30 वर्ष से अनवरत क्रिश्चियन अस्पताल मे हर परिस्थितियों में 15 किलो मीटर दूर से आकर कार्य किया तथा सेवानिवृत्ति पश्चात भी 7 वर्षों से गुप्ता नर्सिंग होम में अपनी सेवा दी है वर्तमान में कोविड-19 काल के कारण तथा उम्र के अधिकता के चलते अस्पतालों में तो सेवा नहीं दे रही दे पा रही है

,लेकिन गांव तथा आसपास के क्षेत्रों को चिकित्सकीय सलाह देकर आज भी सेवा के धर्म का निर्वहन कर रही है उक्त सिस्टर (नर्स) के घर बालोदगहन जब निगम के पूर्व सभापति राजेंद्र शर्मा , भाजपा जिला कोषाध्यक्ष चेतन हिन्दूजा,युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष विजय मोटवानी अन्तर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर सम्मान करने पंहुचे तो सिस्टर थेलमा जीवनकाल के प्रथम सम्मान से अभिभूत होकर भावुक हो गई तथा उन्होंने कहा कि जीवन भर के सेवा यह आज प्रतिफल है जब ये संवेदनशील युवा मेरे घर तक पंहुचे । वही इस दिवस पर विजय मोटवानी ने कहा है कि धरती पर यदि जन्म देने वाली मां है तो जन्मकाल मे पालन हार के रूप में आज सेवा के धरातल पर अस्पतालों के माध्यम से नर्स दूसरी साक्षात मां के रूप में अपनी भूमिका का निभा रही है साथ ही युवा मोर्चा के द्वारा अंतर्राष्ट्रीय नर्स दिवस पर कोविड-19 के विपरीत समय में फ्रंटलाइन कोरोनावारीयर के रूप में संक्रमण के इस भयावह स्थिति में भी अपने जान की परवाह न कर कोरोनो महामरी को समाज से मुक्त कराने के लिए लड़ रहे नर्स बहनों का स्वागत सम्मान भी किया गया । आगे श्री मोटवानी ने कहा कि सम्मान शब्द इन बहनों के लिए बहुत छोटा है इन्हें सम्मानित करते हुए हम सब धन्य हो गए हैं ।वही इस अवसर पर मुख्य रूप से उपस्थित भाजपा जिला कोषाध्यक्ष चेतन हिन्दूजा ने कहा कि यदि डॉक्टर धरती पर भगवान स्वरूप है तो नर्स मां के समान देवी शक्ति को अपने में समाहित कर निस्वार्थ रूप से पूरे समर्पण भाव से मरीजों की सेवा कर सेवा को एक उत्तम आदर्श एवं ऊंचाई का दर्जा देने में अपनी अहम भूमिका निभाती है और यही कारण चिकित्सा के क्षेत्र को आदर श्रद्धा व आस्था के साथ देखते हुए लोग पूजते है।