महापौर पहुचे जैन समाज के आइसोलेशन सेंटर समाज के सराहनीय कार्य के लिए किया आभार व्यक्त

215

धमतरी | करोना संक्रमण की दर देश के साथ प्रदेश में भी बहुत तेज गति से बढ़ रही है धमतरी जिला में भी कोरोना संक्रमण फैलने की दर पूर्व के अपेक्षा अधिक हुई है। कोरोना संक्रमण की भयावह स्थिति में शासन प्रशासन, चिकित्सको के द्वारा लगातार स्थिति को सुधारने के लिए कार्य किया जा रहा है।

कोरोना संक्रमण अधिक तेज गति से बढ़ने के कारण आज शहर के अस्पतालों में जगह की कमी हो गई है ऐसे में कोरोना संक्रमित एवं कोरोना की सामान्य लक्षण दिखाई देने वाले मरीजों को घर में ही आइसोलेट किया जा रहा है लेकिन ऐसे परिवार जिसके पास रहने के लिए पर्याप्त मात्रा में घर नहीं है वैसे लोगों के लिए दिक्कतों का सामना करना पढ़ रहा था ऐसे समय में जैन समाज के द्वारा स्थानक भवन में निःशुल्क सर्व सुविधा युक्त आइसोलेशन सेंटर बनाकर बहुत बड़ी राहत प्रदान की गई जिसके पास आइसोलेशन के लिए पर्याप्त व्यवस्था नहीं थी। स्थानक भवन में संचालित आइसोलेशन सेंटर जैन समाज के द्वारा संचालित किया जा रहा है इस भवन में सभी समाज के लोगों को आइसोलेशन सेंटर बनाकर रखा जा रहा है जिसके घर अलग से रूम बाथरूम नहीं है उन लोगों के लिए जैन समाज का आइसोलेशन निश्चित रूप से सुविधाजनक है। जिसमें जैन समाज के युवाओं की टीम रात दिन पूरी तन्मयता के साथ लोगों की सेवा में जुटे हुए हैं जहां प्रतिदिन पौष्टिक काढ़ा, नाश्ता, भोजन उपलब्ध कराई जा रही हैं। अभी तक स्थानक भवन में संचालित आइसोलेशन सेंटर से 18 लोग स्वस्थ हो चुके हैं और अभी 20 लोग स्वास्थ्य लाभ ले रहे हैं। महापौर देवांगन ने स्थानक भवन पहुंचकर जैन समाज के द्वारा इस सेवा भावना के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया तथा नगर की जनता की तरफ से आभार व्यक्त किया साथ ही लोगों से अपील किया की यह मुश्किल वक्त है हमें शासन प्रशासन कोरोना वारियर्स का पूरा सहयोग करना है धैर्य और धीरज रखते हुए इस महामारी से लड़कर इस जंग को जीतना है।
इस अवसर पर पूर्व अध्यक्ष मोहन लालवानी,एमआईसी मेंबर केंद्र कुमार पेंदरिया, कमलेश सोनकर, राजेश पांडेय, पार्षद दीपक सोनकर,कार्यपालन अभियंता राजेश पदमवार, ब्लॉक अध्यक्ष आकाश गोलछा, विकास पारख, मितेश राखेचा, प्रदीप छाजेड़, कविंद्र जैन,आकाश कटारिया, गणेश चोपड़ा, राकेश लुनिया, सुनील बरडिया, महेंद्र चोपड़ा, इंद्रेश, रजत सेठिया, आशीष कोढा,मुख्य रूप से उपस्थित थे।