जल निकासी की समस्या से मिली मुक्ति, अब रास्ता बनवाकर बारिश का पानी मकई तालाब में पहुंचाया जा रहा

484

जलमग्न एरिया के लोगों ने किया महापौर का सम्मान

धमतरी | श्रीनाथ कालोनी, नवागाँव वार्ड के श्यामा प्रसाद मुखर्जी  में बारिश के पानी निकासी नहीं हो पा  रही थी | लगातार बारीश के पानी से एरिया जलमग्न हो गया था | घरों में भी पानी घुस गया था | प्रभावित एरिया के लोग समस्या का समाधान करने महापौर विजय देवांगन एवं सभापति अनुराग मसीह और जल विभाग के अध्यक्ष अवैश हाशमी से मुलाक़ात कर आवेदन दिये थे | इनकी समस्या को महापौर एवं सभापति और जल विभाग अध्यक्ष ने गम्भीरता से लिया और निजी जमीन वालों से आग्रह कर बरसों पुराना प्राकृतिक रास्ता के द्वारा पानी निकासी करवाकर प्रभावित एरिया के पानी की निकासी कराई |

इसका निरीक्षण करने महापौर प्रभावित क्षेत्रों में गए और आवश्यक निर्देश दिए | मकई तालाब भरने वाला पानी बहाव  के रास्ते  में फसे कचरों को निकलवाकर प्रभावित जलमग्न एरिया का पानी सिहावा रोड एफ सी आई मोड़ देव वेल्डिंग के सामने पुल से सिहावा रोड नाली होते हुए सिहावा चौक के पास पार बधवाकर मकई तालाब में पानी पहुंचाया | जिससे मकई तालाब को भरा गया। महापौर विजय देवांगन के निर्देश पर करवाये गए कार्य से श्यामा प्रसाद मुखर्जी का नवागाँव बस्ती वाला एरिया के  पानी की  निकासी  हुई | जिससे श्रीनाथ कालोनी और श्यामा प्रसाद मुखर्जी वार्ड के नवागाँव बस्ती वालो कोबड़ी राहत मिली और मकई तालाब में पानी भरा। समस्या का समाधान होने पर वार्डवासियों ने नगर निगम पहुँचकर महापौर विजय देवांगन को  गुलदस्तां भेट कर सम्मान  किया | सभापति अनुराग मसीह एवं आयुक्त आशीष टिकरिहा एवं पार्षद रश्मि त्रिवेदी और नवागाँव वार्ड पार्षद एवं जल विभाग अध्यक्ष अवैश हाशमी एवं नगर निगम का  आभार व्यक्त किया |भविष्य में उचित व्यवस्था के लिए श्रीनाथ कालोनी,श्यामा प्रसाद मुखर्जी वार्ड का नवागाँव बस्ती वाला एरिया की पानी निकासी हेतु प्रभावित एरिया में रोड और पक्का नाली निर्माण करने की मांग रखी जिस पर महापौर ने आश्वस्त किया और बताया कि सिहावा रोड एफ सी आई मोड़ के पास पुराना पुल को देखा जिस तरह से पानी बहना चाहिए उस तरह नहीं बह पा रहा है | नया पुल निर्माण करना उचित होगा जिसके लिए  लोक निर्माण विभाग को पत्र भेजा है। उक्त स्थल के आसपास नया पुल का निर्माण होगा और नाली निर्माण करवाया जाएगा जिससे  पानी निकासी की समुचित व्यवस्था होगी |