कुरूद ब्लाक में कोरोना से अब तक 26 की मौत, संक्रमण को रोकने स्वास्थ्य विभाग ने ली जनप्रतिनिधियों की बैठक 

125

कुरूद | मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ डी.के. तुर्रे के मार्गदर्शन में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा कोविड 19 के गम्भीर एवं संवेदनशील विषयों पर जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित करने जनपद पंचायत कुरूद में बैठक आयोजित की गई। इसमें कुरूद विकासखण्ड के सभी सरपंच, नगर पंचायत कुरूद के सभी निर्वाचित पार्षद एवं कर्मचारियों को कोविड-19 के बढते संक्रमण को रोकने के लिए ट्रेकिंग, ट्रेसिंग एवं ट्रीटमेंन्ट पर जानकारी दी गई। इसमें सभी जनप्रतिनिधियों की सहभागिता सुनिश्चित कराकर अपने क्षेत्रों में सर्दी, खांसी, बुखार, दस्त के मरीजों की जानकारी अवश्य लेने एवं उनका कोविड की जाॅच अनिवार्य रूप से कराकर धनात्मक आने की स्थिति में होम आईसोलेट अथवा अस्पताल भर्ती होकर उपचार कराने की समझाईश दी गई, ताकि आकस्मिक मृत्यु एवं समुदाय स्तर पर  संक्रमण  को रोका जा सके।
इस दौरान बताया गया कि कोरोना के खतरे क्यों बढ़ रहे हैं। कहते है कि आने वाला समय कोविड 19 के समुदाय स्तर पर बढ़ते संक्रमण के कारण दूसरा, तीसरा लहर का जनसमुदाय के सामने अपना भयंकर रूप दिखाने को तैयार है। कोविड का खतरा अभी पूर्व दिनों से ज्यादा बढ़ गया है। विकासखण्ड कुरूद में मार्च 2020 से अब तक कोविड के संक्रमण से बचाव के लिए 18,271 लोगों के सेम्पल की जाॅच कराई जा चुकी है, जिसमें से अब तक 1362 लोगों के कोविड का धनात्मक होने की पुष्टि हुई है। विकासखण्ड कुरूद में अब तक कोविड के संक्रमण से 26 लोगों की मौत हो चुकी है, ये आंकडे़ अपने आप में इसकी गम्भीरता को प्रदर्शित कर रही है। कुरूद में प्रति 100 लोगों की कोविड सेम्पल में से 10 लोग पाॅजीटीव आ रहे है, जिनमें से 85 प्रतिशत लोगों को कोई लक्षण नहीं है। साथ ही जिनकी मृत्यु हुई है, उनमें से अधिकांश लोग किसी न किसी कारण से अस्पताल में भर्ती होकर जाॅच होने पर पाॅजीटीव आए हैं और उपचार के दौरान उनकी मृत्यु हुई हैं।
कुरूद में धनात्मक प्रकरण की संख्या में वृद्धि होने के पीछे मुख्य कारणों में जनसमुदाय का कोविड के सामान्य लक्षणों को छुपाना, कोविड की जाॅच से घबराना है, जिसकी वजह से मरीजों की पहचान देर से हो रही है और वे बिना जाॅच कराये सार्वजनिक स्थानों पर घूम रहे हैं, जिसके कारण अन्य लोग सम्पर्क में आकर संक्रमित हो रहे हैं। साथ ही कोविड के धनात्मक प्रकरण के सम्पर्क में आये लोग भी जानकारी छुपा रहे है , और अपनी जाॅच नहीं करा रहे। पहले एक धनात्मक प्रकरण में 15 से 20 लोग सम्पर्क आते थे, जो अब दो से तीन तक सिमट कर रह गई है। वर्तमान में विकासखण्ड में मितानीनों द्वारा स्वास्थ्य सुरक्षा अभियान के तहत प्रत्येक सप्ताह बुधवार एवं गुरूवार को घर-घर जाकर सर्दी-खांसी, बुखार के लक्षण वाले मरीजों की जानकारी ले रहे हैं, ताकि उनकी कोविड जाॅच कराकर संक्रमण को समुदाय स्तर पर बढ़ने से रोका जा सके, किन्तु इसमें भी लोगों का पूरा सहयोग नहीं मिल रहा है, लोगों में लक्षण होने के बावजूद जाॅच के लिए तैयार नहीं हैं और ना ही घर पर आईसोलेशन के लिए तैयार हो रहे हैं। इस दौरान जनपद अध्यक्ष श्रीमती शारदा साहू, जनपद उपाध्यक्ष जानसिंग यादव, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जपपद पचायंत कुरूद एवं नगर पंचायत की बैठक में नगर पंचायत उपाध्यक्ष श्रीमती मंजू प्रमोद साहू, एवं पार्षद श्रीमती राखी तपन चन्द्राकर, मनीष साहू, मनोज जायसवाल, मुख्य नगर पंचायत अधिकारी  रोहित पाण्डेय विकासखण्ड कार्यक्रम प्रबंधक सिविल अस्पताल कुरूद एवं नगर पंचायत कुरूद के सभी अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।