अधिग्रहित जमीन का 10 साल बाद भी नहीं मिला मुआवजा, सोनेवारा के किसानों का छलका दर्द 

115

मगरलोड। ग्राम सोनेवारा में डामरीकरण सड़क निर्माण के लिए 50 से अधिक किसानों की भूमि का अधिग्रहण किया गया है । इसमें प्रभावित होने वाले किसानों को 10 वर्ष बाद भी मुआवजा नहीं मिला है। इसके लिए किसानों ने कलेक्टर से गुहार लगाई, लेकिन कोई परिणाम नहीं आया है। ग्रामीण गोकुल निषाद, पंचू राम, अमृत राम, मोहन राम ने बताया कि धमतरी से मगरलोड डामरीकरण सड़क में सोनेवारा के किसानों की जमीन आती है। 50 किसानों की जमीन लोकनिर्माण विभाग द्वारा अधिग्रहण किया गया है।

इसके एवज में उन्हें मुआवजा मिलना था । पर अब तक मुआवजा नहीं मिला है। ऐसे में किसानों में भारी रोष व्याप्त है। फूलचंद सिन्हा, भुनेश्वर, रामनारायण देवांगन, फुलेश्वरी, दिलीप, रामचंद्र, नारायण, कनेश्वरी, अमरसिंग, राजकुमार, माखन राम समेत बड़ी संख्या में किसानों ने बताया कि वर्तमान  में वन विभाग द्वारा सड़क किनारे खेतों में सर्कल कर पौधरोपण किया जा रहा है। इससे उनकी धान की फसल को नुकसान हो रहा है।उन्होंने बताया कि सड़क के दोनों किनारे कृषि भूमि में पौधरोपण किया गया है जिससे किसानों की आर्थिक क्षति हो रही है। किसानों ने प्रशासन से त्वरित मुआवजा की मांग की है।