25000 रूपये नगद इनामी फरार आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर अजमेर (राजस्थान) से गिरफ्तार मामला डाभा जोरातराई रेत खदान का

504

डाभा जोरातराई रेत खदान में घटित घटना का इनामी फरार मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर सहित एक अन्य आरोपी गिरफ्तार

धमतरी पुलिस ने अजमेर (राजस्थान) में घेराबंदी कर किया गिरफ्तार

घटना के फरार मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर पर था ₹25000 का नगद इनाम

आरोपी लगातार देश के विभिन्न प्रदेशों में घूम-घूम कर बदल रहा था अपना पता ठिकाना, काफी मशक्कत के बाद आया गिरफ्त में

थाना अजाक, कुरूद, साइबर सेल तकनीकी की संयुक्त कार्यवाही

धमतरी |  18-19 जून की दरमियानी रात्रि थाना कुरुद क्षेत्र अंतर्गत डाभा जोरातराई रेत खदान में जिला पंचायत सदस्य प्रार्थी खूबलाल ध्रुव पिता राजकुमार ध्रुव एवं उसके साथियों के साथ घटित घटनाका  मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर अपने ड्राइवर तुलसीराम यादव के साथ अपनी रेनॉल्ट कैप्चर कार क्रमांक सीजी 05 एई 8222 से महासमुंद के थाना पटेवा क्षेत्र अंतर्गत ग्राम बावनकेरा में छोड़कर अन्यत्र भाग जाने की सूचना पर उक्त कार को बरामद किया गया, किंतु आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर द्वारा लगातार अपना पता-ठिकाना बदलते रहने से पुलिस की गिरफ्त में नहीं आया। पुलिस अधीक्षक श्री बी पी राजभानु के निर्देशन पर संयुक्त पुलिस टीम गठित कर अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे के मार्गदर्शन व उप पुलिस अधीक्षक अजाक श्रीमती सारिका वैद्य के नेतृत्व में मामले के आरोपियों के संभावित स्थानों में पता तलाश कर त्वरित कार्यवाही करने निर्देशित किया गया ।

 

श्रीमान पुलिस महानिरीक्षक रायपुर क्षेत्र, रायपुर द्वारा मामले की गंभीरता को देखते हुए मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर की पतासाजी एवं गिरफ्तारी हेतु ₹20000 एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा ₹5000 उद्घोषणा की गई है। इस दौरान मामले के मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर एवं उसके ड्राइवर तुलसीराम यादव की पतासाजी कर गिरफ्तारी हेतु तकनीकी संसाधनों के माध्यम से प्राप्त सूत्रों का बारीकी से विश्लेषण करते हुए लाखों संदिग्ध मोबाइल नंबरों को खंगाला गया, साथ ही मुखबीर सूचना पर आरोपी के हर संभावित स्थानों-रायपुर, दुर्ग, भिलाई, राजनांदगांव, गरियाबंद, जगदलपुर, कोण्डागांव, महासमुंद व अन्य राज्य उड़ीसा में दबिश दी गई, किन्तु कोई उल्लेखनीय जानकारी नहीं मिली। मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर द्वारा छुपाव हासिल करने के लिए कई मोबाइल नंबर एवं मोबाइल सेट का उपयोग करना पाये जाने पर अन्य राज्यों की पुलिस से संपर्क कर सोशल मीडिया के माध्यम से दोनो आरोपियों की फोटो भेजकर पतासाजी किया गया, साथ ही अंतर्राज्यीय स्तर पर विश्वसनीय मुखबिर भी लगाया गया। इसी दौरान विश्वस्त सूत्रों से जानकारी मिली कि मामले का मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर दिल्ली में छुपा हुआ है जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों के निर्देशन में संयुक्त पुलिस टीम को तत्काल दिल्ली रवाना किया गया। इसी बीच उक्त टीम को सूचना मिली कि आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर दिल्ली से अजमेर (राजस्थान) की ओर निकल चुका है, जिसकी सूचना वरिष्ठ अधिकारियों को देकर उनके निर्देश पर अजमेर (राजस्थान) पहुंचकर घेराबंदी करते हुए मुख्य आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर पिता सूरजभान प्रताप चंद्राकर उम्र 42 वर्ष एवं उसके ड्राइवर तुलसीराम यादव पिता घुरुवाराम यादव उम्र 45 वर्ष साकिनान ग्राम राखी थाना कुरूद जिला धमतरी को राजस्थान के अजमेर से विधिवत गिरफ्तार किया गया तथा उनके द्वारा प्रयुक्त स्कॉर्पियो वाहन क्रमांक सीजी 04 एचबी 2300 को जप्त किया गया है। आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर के द्वारा फरारी के दौरान इस्तेमाल किए गए मोबाइल सेट एवं मोबाइल नंबरों को एक बार उपयोग करने के बाद अलग-अलग राज्यों के अलग-अलग जगहों में तोड़कर नष्ट कर दिया गया है। इस प्रकार पुलिस अधीक्षक धमतरी के कुशल निर्देशन में फरार इनामी आरोपी नागेंद्र उर्फ नागु चंद्राकर एवं उसके ड्राइवर तुलसीराम यादव को राजस्थान के अजमेर से गिरफ्तार करने में संयुक्त टीम के निरीक्षक आर.एन. सिंह सेंगर थाना प्रभारी मेचका, उप निरीक्षक नरेश बंजारे थाना अर्जुनी, प्रधान आरक्षक प्रदीप सिंह, प्रहलाद बंछोर, आरक्षक कुलदीप सिंह, कमल जोशी, धीरज डडसेना, दीपक साहू, मुकेश मिश्रा, सितलेश पटेल एवं झमेल सिंह राजपूत के द्वारा अनवरत कड़ी मेहनत कर सफलता अर्जित किया गया है