हरेली त्यौहार में पूर्व सभापति ने अपने गृहग्राम मे की पूजा-अर्चना

82

पंरमपरात रूप से आस्था व श्रद्धा के साथ मनाया गया

तीज-त्यौहार समूहिकता एवं गांव की एकता का कराता है बोध-राजेंद्र शर्मा
धमतरी|  छत्तीसगढ़ की परंपरा व संस्कृति से जुड़ा हुआ कृषि से जुडा हुआ प्रथम पर्व हरेली पर किसानों द्वारा अपने हल तथाऔजार कलपुर्जे की साफ सफाई करते हुए पूजा अर्चना किया जाता हैसाथ ही पशुधन को संरक्षित रखने दवाई खिलाते हुवे घरो मे नीम पेडो की टहनी लगाने की पंरमपरा भी आज भी कायम है तथा पारंपरिक व्यंजनों से गांव के रहवासी उक्त पर्व पर स्वागत करते हुए खुशी की छटा बिखेरते हैं ।

 

वही नगर निगम के पूर्व सभापति राजेंद्र शर्मा द्वारा भी अपने ग्राम वासियों के साथ सामूहिक रूप से हरियाली के प्रतीक हरेली पर्व की पूजा अर्चना करते हुए अच्छे फसल तथा गांवो की खुशहाली व सुख समृद्धि की ईश्वर से प्रार्थना की साथ ही उन्होंने कहा कि प्रत्येक त्यौहार हमेशा समूहिकता के साथ आस्था व श्रद्धा भाव से मनाते हुए गांव की एकता अपनत्व भाईचारे को बढ़ाने की सीख देता है वे स्वयं अपने गांव के युवा पीढ़ियों के साथ जोड़कर हमारी परंपरा को आगे बढ़ाने का प्रयास करते हैं ।गौरतलब है कि समीपस्थ ग्राम बोडरा (डी) में प्रत्येक सार्वजनिक कार्यों को गति देने वाली वहां की बोल बम सेवा समिति तथा पंचमुखी हनुमान मंदिर समिति प्रत्येक तीज -त्यौहार धार्मिक, सामाजिक आयोजनों को सामूहिकता के साथ जुड़कर मनाते हुए सारे विभेदो को दूर करने का हमेशा प्रयास करते हैं ।सामाजिक धरातल पर उनके द्वारा किया हुआ अनेक कार्य सेवा के क्षेत्र में अमिट छाप छोड़ जाता है उक्त अवसर पर सम्मिलित होने वाले में नीरज साहू, चुम्मन साहू, लोमेश साहू, मनीष ध्रुव, पूनम साहू,चतुर्भज ध्रुव ,राम यादव ,सूरज यादव,सुनील नागवंशी, देवेंद्र साहू है।