सुशांत केसः ड्रग्स पेडलर्स के ठिकाने पर एनसीबी की रेड, मुंबई-गोवा से 7 गिरफ्तार

491

नई  दिल्ली | सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में ड्रग्स एंगल की जांच कर रहे नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) की टीम ने शनिवार को मुंबई और गोवा में ताबड़तोड़ छापेमारी की. कैजान की निशानदेही पर गिरफ्तार अनुज केशवानी से पूछताछ में हुए खुलासे के आधार पर की गई छापेमारी की कार्रवाई में एनसीबी को बड़ी सफलता हाथ लगी.एनसीबी की टीम ने मुंबई और गोवा में ड्रग्स पेडलरों के कई ठिकानों पर एकसाथ छापेमारी कर भारी मात्रा में ड्रग्स बरामद किए हैं. साथ ही सात ड्रग्स पेडलरों को एनसीबी ने गिरफ्तार भी किया है. बताया जाता है कि गिरफ्तार किए गए ड्रग्स पेडलरों में करमजीत उर्फ केजे भी शामिल है. करमजीत की गिनती मुंबई के बड़े ड्रग पेडलरों में होती है.एनसीबी ने ऋषिकेश पवार को भी हिरासत में लिया है.

दीपेश सावंत ने पवार का नाम अपने बयान में लिया था. ऋषिकेश एक्टर सुशांत सिंह राजपूत का स्टाफ था. सीबीआई ने उसे समन भेजे थे बाद में उसे एनसीबी के हवाले कर दिया गया.बताया जाता है कि करमजीत ही सैमुएल मिरांडा और शोविक चक्रवर्ती को ड्रग्स की आपूर्ति करता था. यह ड्रग्स बाद में रिया चक्रवर्ती और सुशांत सिंह राजपूत तक पहुंचती थी. करमजीत की ड्रग्स सप्लाई के तार केवल मिरांडा और शोविक तक ही नहीं थे. यही कैपरी और लिटिल हाइट्स में भी ड्रग्स की आपूर्ति करता था. एनसीबी की टीम करमजीत और अन्य ड्रग्स तस्करों से पूछताछ कर रही है. गौरतलब है कि एनसीबी की कई टीमों ने सुबह-सुबह मुंबई और गोवा में ड्रग्स पेडलरों के कई ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की थी. समीर वानखेड़े के नेतृत्व में यह कार्रवाई अनुज केशवानी की निशानदेही पर की गई थी. अनुज के नाम का खुलासा कैजान ने पूछताछ के दौरान किया था. इसके बाद उसे एनसीबी की टीम ने हिरासत में ले लिया था. बता दें कि सुशांत की मौत के मामले में ड्रग्स का एंगल आने के बाद एनसीबी ने जांच शुरू की थी. एनसीबी ने कैजान और कुछ अन्य ड्रग्स पेडलरों को हिरासत में लेने के बाद रिया चक्रवर्ती के भाई शोविक चक्रवर्ती को भी गिरफ्तार कर लिया था. दो दिन से अधिक चली पूछताछ के बाद रिया चक्रवर्ती को भी एनसीबी ने गिरफ्तार कर लिया था.