सरकार धान संग्रहण केंद्रों में ठेकेदारी प्रथा बंद करें

485

धमतरी| सरकार ने खरीफ फसल धान खरीदी को लेकर संग्रहण केंद्रों में लगने वाले कुशल अर्धकुशल मजदूरों को काम मे रखे जाने के लिए इस बार टेंडर निकलवाया है| जबकि इससे पहले यह काम विपणन समिति स्वयं करती आ रही है.जो कि सरकार की घोषणा पत्र के खिलाफ कार्य है| सरकार के  इस  निर्णय का दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी मार्कफेड विपणन संघ ने विरोध किया है| संघ ने कहा सरकार ने  छत्तीसगढ़ में ठेका प्रथा खत्म कर सभी अनियमित कर्मचारियों को नियमितीकरण करने का वादा किया था लेकिन सरकार अर्थव्यवस्था की रीढ़ धान संग्रहण केंद्र में दैनिक वेतनभोगी के रूप में करीबन 12-13 वर्षो से कार्यरत कर्मचारियों के लिए टेंडर का आदेश निकाल दिया है|

सरकारअनियमित कर्मचारियों से किये वादे के अनुरूप टेंडर को निरस्त कर सभी अनियमित कर्मचारियों का नियमितीकरण करें | संग्रहण केंद्रों में ठेकेदारी प्रथा बंद कर पूर्व की तरह विपणन संघ के अंतर्गत कार्य का भुगतान करने की मांग  को लेकर दैनिक वेतनभोगी कर्मचारी मार्कफेड विपणन संघ ने कलेक्टर को ज्ञापन सौपा |