शारीरिक शिक्षा को स्कूली शिक्षा में शामिल करने की मांग

699

धमतरी | स्कूल शिक्षा में शारीरिक शिक्षा को अनिवार्य विषय बनाने के लिए प्रदेश अध्यक्ष  हरिश देवांगन के नेतृत्व में छत्तीसगढ़ व्यायाम संघ द्वारा विधायक रंजना साहू को ज्ञापन सौपा गया। विधायक ने शारीरिक शिक्षा को लेकर चिंता जताते हुए कहा कि स्कूल में कक्षा 1 से 12 वी तक के लिए शारीरिक विषय को अनिवार्य किया जाना चाहिए ताकि खेल का भी ग्रास रूट बढ़या जाये और बच्चो का शारीरिक मानसिक एवं सर्वांगीण विकास हो | प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी  के माध्य्म से भारत सरकार द्वारा नए शिक्षा नीति में शारीरिक शिक्षा को अनिवार्य विषय शामिल किया गया ।  छत्तीसगढ़ के स्कूल शिक्षा पाठ्यक्रम में शारीरिक शिक्षा को आने वाले सत्र 2021 में शामिल करने हेतु शासन प्रशासन से चर्चा करने की बात कही। तत्पश्चात महापौर  विजय देवांगन  को ज्ञापन दिया गया ।महापौर  ने शारीरिक शिक्षा को आज के वर्तमान समय अत्यंत आवश्यक बताया | इस संबंध में उनके द्वारा भी शासन को अवगत कराने व लागू कराने के संबंध में भी आश्वासन दिया गया। मुख्यमंत्री भूपेश  बघेल  के नाम से अपर कलेक्टर दिलीप अग्रवाल व एस डी एम  मनीष मिश्रा को ज्ञापन दिया गया|  जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती रजनी नेल्सन ने शिक्षा के अधिकार act के तहत शारिरिक शिक्षा विषय के महत्व को बताया व इसके लागू होने  से छात्रों का सर्वांगीण विकास की बात कही। इस अवसर पर जिलाध्यक्ष प्रदीप सिन्हा, सचिव राजकुमार सिन्हा, सुनील सिन्हा, प्रखर श्रीवास्तव, नवनीत पचौरी उपस्थित थे|