शादी का प्रलोभन देकर नाबालिगों को भगाया, किया दुष्कर्म, आरोपी गिरफ्तार 

629

 रुद्री पुलिस की कार्यवाही

धमतरी | थाना रुद्री क्षेत्रांतर्गत ग्राम की एक नाबालिग लड़की 15 अगस्त की रात्रि एवं अन्य मामले की नाबालिग बालिका  22 अगस्त  की  शाम करीबन 6  बजे अपने घर से बिना बताए कहीं  चली  गई |  परिजनो ने  आस-पड़ोस, रिश्तेदारों एवं उसकी सहेलियों से  पूछताछ  भी की  लेकिन  पता  नहीं चला |  परिजनों की शिकायत  पर  थाना रुद्री में  अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 363 भादवि के तहत पृथक-पृथक अपराध पंजीबद्ध किया  गया | पुलिस अधीक्षक  बी.पी. राजभानू ने दोनो अपहृत नाबालिग बालिका एवं अज्ञात आरोपी की जल्द से जल्द पतासाजी कर वैधानिक कार्यवाही करने थाना प्रभारी रुद्री को निर्देशित  किया |

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे के दिशा-निर्देश एवं उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अरुण जोशी के पर्यवेक्षण में अपहृत नाबालिग बालिकाओं व अज्ञात आरोपी की पता तलाश की जा रही थी।  थाना प्रभारी रुद्री युगल किशोर नाग ने अपहृत नाबालिग बालिका एवं अज्ञात आरोपी की पता तलाश हेतु थाना स्तर पर पृथक-पृथक टीम गठित  की |

थाना प्रभारी स्वयं अपनी टीम के साथ नगरी सिहावा की ओर रवाना हुए  | ग्राम देवपुर से अपहृत नाबालिग बालिका को दिग्विजय सिंह महार के कब्जे से बरामद कर पूछताछ  की गई | बालिका ने बताया कि दिग्विजय सिंह ने शादी कर पत्नि बनाकर रखने का झांसा देकर बहला-फुसलाकर अपने साथ भगा कर लाया और जबरदस्ती शारीरिक संबंध बनाकर दैहिक शोषण किया।  इसी प्रकार अन्य मामले की अपहृता एवं अज्ञात आरोपी की पता तलाश के दौरान संदेह के आधार पर भटगांव निवासी सतीश मसीह के घर में  दबिश देने पर अपहृत नाबालिग बालिका मिली | सतीश मसीह ने उसे प्यार करने व पत्नि बनाकर रखने का झांसा देकर अपने साथ भगा लाया और  शारीरिक संबंध बनाया।  दोनों मामले में धारा 366, 376(2)(ढ़) भादवि एवं लैंगिक अपराधों से बालकों का संरक्षण अधिनियम की धारा 4, 6 जोड़ते हुए आरोपियों को विधिवत गिरफ्तार कर न्यायालय के समक्ष पेश किया गया है।  नाबालिग बालिका को उसके परिजनों को सुपुर्द किया गया है, मामले की जांच जारी है।