शराबबंदी समेत दस सूत्रीय मांग को लेकर 5 अक्टूबर को धरना-प्रदर्शन, बैठक में बनी रणनीति

362

 
नगरी | उप तहसील कुकरेल के आदिवासी भवन में बुनियादी सुविधाओं की मांग को लेकर सर्वजन सभा गोष्ठी का आयोजन किया गया जिसमें क्षेत्र की जनता ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। रोजगार मूलक विषय सहित जनहित कार्य के मुद्दों पर विशेष बातचीत व जानकारी आदान प्रदान  की गई । जिला पंचायत सदस्य अनिता  ध्रुव ने दस सूत्रीय मांग छत्तीसगढ़ प्रदेश में पूर्ण शराबबंदी, मितानिनों के पन्द्रह सौ रूपये मानदेय को पांच हजार रुपये बढ़ाने, महिला स्व सहायता समूहों की पच्चास हजार रुपये कर्ज माफी, बेरोजगार युवाओं को बेरोजगारी भत्ता, उप तहसील कुकरेल को पूर्ण तहसील व विकासखण्ड बनाने तथा विकासखण्ड मगरलोड , कुकरेल, कौहाबाहरा(दुगली) में  फुड पार्क, वन भूमि में काबिज गरीब किसानों को भूमि स्वामी पट्टा सहित सीतानदी  अभ्यारण्य  क्षेत्र के ग्रामों में मुलभूत सुविधाओं को एजेंडा में रखा, जिनका सभी लोगों ने तालियों की गड़गड़ाहट के साथ स्वीकार किया।अनिता ध्रुव ने बताया कि कुकरेल उप तहसील को पूर्ण तहसील का दर्जा देने की घोषणा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजीव ग्राम दुगली के कार्यक्रम में एक साल पहले की थी लेकिन उस घोषणा पर अबतक अमल नहीं किया गया है | जिला पंचायत सदस्य की बातों को गंभीरता से सुनते हुए क्षेत्रीय जनता ने कदम से कदम मिलाकर पूर्ण सहयोग करने का भरोषा दिलाया |

बैठक में मांगों को लेकर 5 अक्टूबर को उप तहसील मुख्यालय कुकरेल के बस स्टैण्ड पर एक दिवसीय धरना प्रदर्शन व चक्काजाम कर नायब तहसीलदार को मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपने का निर्णय लिया गया है। बैठक में दस सुत्रीय मांग के कार्यक्रम को सुचारू रूप से चलाने के लिए जन आन्दोलन महिला संघर्ष समिति का गठन किया गया जिसमें सर्वसम्मति से अध्यक्ष अनिता ध्रुव जिला पंचायत सदस्य, सचिव बेदबती नेताम, सह सचिव लक्ष्मी बाई साहू, कोषाध्यक्ष माधुरी दीवान, उपाध्यक्ष केकती बाई कुंजाम ,केशरी बाई साहू, बिदेशवरी मंडावी, धनेशवरी नेताम व सुनिती कतलाम को चुना गया। इसी तरह पुरुष  वर्ग में  अध्यक्ष अजय यादव,, सचिव नरेन्द्र कुमार ध्रुव, सह सचिव संजय रामटेके, उपाध्यक्ष द्रोण कुमार ध्रुव, कोषाध्यक्ष नरेश कुमार दिवान सरपंच सलोनी, कार्यकारिणी सदस्य अवध राम साहू, मोक्ष साहू, लोमेश यादव, बिंझवार ठाकुर, रायसिंग, सोना राम जिलेराम, गुहाराम ध्रुव, रंजन राम को चयनित किया गया। बैठक में प्रमुख रूप से राजिम नेताम, पदमा दीवान, गायत्री बाई, मंजु साहू, लोमेशवरी साहू, देवकी बाई, चम्पा बाई, इंदिरा बाई, कुमारी बाई, विमला बाई, सावित्री बाई, अमरीका बाई, उषा बाई, खेमिन बाई, चैती बाई, योगिता बाई आशो बाई, चित्ररेखा साहू, दशोदा बाई, ममता बाई, सियाराम साहू, जितेन्द्र कुमार साहू,सोमन साहू, शिव साहू,दिनदयाल ध्रुव, प्यारेलाल सेन, हेमलाल ध्रुव, योगेश ध्रुव, भगवान सिन्हा, सरोज सिन्हा, रामलाल कमाल, बाबुलाल ,केवल राम, परस कुमार, रोशन साहू, विजय कुमार ध्रुव, खुबलाल राम सहित हजारों की संख्या में ग्रामीण जन उपस्थित हुये।