विधायक ने कहा, केन्द्र सरकार को छात्रों के भविष्य की चिंता नहीं 

337

नगरी| देश में कोरोना संक्रमण चरम दौर पर है | इस बीच केन्द्र सरकार जेईई और नीट परीक्षाओं का आयोजन करने जा रही है जिसका कांग्रेस ने स्पीक अप फॉर स्टूडेंट सेफ्टी सोशल मीडिया अभियान के तहत इसका जमकर विरोध किया। सोशल मीडिया में अपनी बात रखते हुए मध्य क्षेत्र आदिवासी विकास प्राधिकरण की उपाध्यक्ष एवं सिहावा विधायक डॉ लक्ष्मी ध्रुव ने कहा कि कोरोना का दौर है और केन्द्र सरकार जेईई और नीट परीक्षा लेने के लिए आमदा है। उन्होंने आगे कहा कि कोरोना के इस दौर में ना तो बस चल रही है, ना ट्रेन चल रही है, ना तो होटल है ना खाने का सामान हैं।

छत्तीसगढ़ आदिवासी बाहुल्य राज्य है और हमारे आदिवासी बच्चे दूर – दूर कोने- कोने में रहते हैं | उन्हें आने में समस्या का सामना करना पड़ेगा। यहां केवल 3 सेंटर बिलासपुर, रायपुर, दुर्ग – भिलाई है | ऐसी स्थिति में वे इस कठिन दौर का सामना कैसे करेंगे| सिहावा विधायक ने आगे कहा कि केन्द्र सरकार नहीं चाहती कि हमारे गांव के किसान, गांव के मजदूर, गांव के गरीब बच्चे इस परीक्षा में बैठ सके। तभी ये फैसला लेने जा रही है | यह गलत निर्णय  है।