वर्चुअल डांडिया, गरबा प्रतियोगिता रणकारो 2020 का आनंद हुआ दुगुना

660

रायपुर | आपदा को उत्सव बनाने स्पंदन ने अनूठी पहल की है | गुजराती परिवारों के लिये  स्पंदन परिवार द्वारा वर्चुअल डांडिया, गरबा प्रतियोगिता रणकारो-2020 प्रतियोगिता का आयोजन  किया गया है | स्पंदन परिवार के हितेश रायचुरा रायपुर, गिरीश मिरानी रायपुर, शैलेष कारिया दुर्ग, संजय नथवाणी भिलाई ने बताया कि कार्यक्रम प्रतिदिन ठीक रात्रि 9 बजे माताजी की आरती के साथ प्रारम्भ हो जाएगा एवं ठीक 11 बजे समाप्त हो जाएगा| प्रतिभागियों को ध्यान रखना होगा  कि जिस गैजेट से भी आप लॉग-इन होने वाले है उसकी नेट कनेक्टिविटी अच्छी हो एवं वह गैजेट किसी एक स्थान पर रखा हो,उसमें मोबिलिटी होने पर आपकी VDO क्वालिटी खराब हो सकती है| आपके पास यदि HDMI केबल के माध्यम से घर पर TV के बड़े screen पर भी कार्यक्रम का आनंद ले सकते हैं।  सभी रात्रि 8:50 बजे तक लॉग इन कर लेंगे| प्रतिभागियों को पारंपरिक वेशभूषा में ही प्रस्तुति देनी है जैसे कुर्ता पैजामा,केड़िया, चन्या-चोली आदि| ज़रूरी नहीं  है कि एक ग्रुप के सभी सदस्य एक ही परिवार के हो|  प्रत्येक प्रतिभागी, टीम को 9 दिनों में केवल एक बार, वह  भी 5 मिनट ही परफॉर्म करना है |प्रतिदिन नहीं|  कार्यक्रम पूर्णरूप से नि:शुल्क है | कार्यक्रम को एक साथ एक ही समय पर 500 परिवार दिए हुए ID एवं password के माध्यम से देख सकते हैं।एक प्रतिभागी एक से ज़्यादा बार अन्य दिवस में प्रस्तुति देना चाहता है तो वे दे सकते है| इसके लिए आपको एक बार और नाम लिखवाना पड़ेगा | स्लॉट खाली होने पर ही  एंट्री  दी  जा  सकती है| प्रत्येक दिन निर्णायक  प्रस्तुतियों पर अपना निर्णय देंगे एवं उनके एकीकृत अंको के आधार पर ही विजेता घोषित किये जायेंगे|मूल्यांकन का आधार गीतों का चयन, वेशभूषा एवं प्रस्तुतिकरण  होगा|  गुजराती गीतों पर ही प्रस्तुति करनी है हिंदी गानों पर माइनस मार्किंग की जाएगी|  प्रतिदिन प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय पुरस्कार दिए जाएंगे एवं समस्त 135 प्रस्तुति कर्ताओं को आकर्षक पुरस्कार दिए जाएंगे| कार्यक्रम प्रभारी ललित जोबनपुत्रा रायपुर, यशेष रायचुरा रायपुर, गौरव लोहाणा धमतरी है |