लाक डाउन के कारण राजस्थान में फंसे हुए गरीब, आदिवासी छात्राओं को छत्तीसगढ़ वापस लाया जावे-आर एन ध्रुव

525

धमतरी | छत्तीसगढ़ के 30 गरीब छात्राएं दीनदयाल उपाध्याय ग्रामीण कौशल योजना के अंतर्गत प्रशिक्षण लेने के लिए ऑन जॉब ट्रेनिंग हेतु राजस्थान भिवाड़ी गए हुए थे। वे वहां यजाकी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के भिवाड़ी में रोजगार हेतु प्रशिक्षण ले रहे थे । कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम हेतु संपूर्ण लाक डॉउन 22 मार्च 2020 के कारण वे जिला-अलवर राजस्थान में फंस गए हैं जहां से वापस नहीं आ पा रहे रहते है। छात्राओं से प्राप्त जानकारी के अनुसार उन छात्राओं को वहां भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़ के प्रांताध्यक्ष आर एन ध्रुव द्वारा माननीय श्री अर्जुन मुंडा जी केंद्रीय मंत्री आदिवासी मामले भारत सरकार, महामहिम राज्यपाल छत्तीसगढ़ सुश्री अनुसूईया उईके जी एवं मुख्यमंत्री माननीय श्री भूपेश बघेल जी से पत्र लिखकर ईमेल के माध्यम से निवेदन है कि जिस तरह से कोटा में फंसे छात्र-छात्राओं को लाने के लिए सरकार द्वारा तत्परता दिखाते हुए वापस लाकर बहुत ही प्रशंसनीय अच्छी पहल की गई । उसी तरह इन गरीब, आदिवासी छात्राओं को भी शीघ्र उनके मूल स्थान जिला धमतरी छत्तीसगढ़ लाया जावे।