राशन ही नहीं, सब्जियां भी दी जा रहीं , दो दिनों में 9 क्विंटल सब्जी वितरित

480

तालाबंदी के दौरान सब्जी विक्रेताओं ने भी दिखाई दरियादिली, गरीबों को राशन के साथ रोजाना मिल रहीं हरी सब्जियां
(राजेश रायचुरा ) धमतरी, -19 कोरोना वायरस के संभावित संक्रमण से बचाव एवं इसके नियंत्रण के लिए शासन द्वारा देश भर में गत 25 मार्च से तालाबंदी (लाॅक डाउन) लागू की गई है, साथ ही प्रशासनिक नियंत्रण के

लिए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री रजत बंसल ने जिले में धारा 144 लागू कर दी है। लाॅक डाउन के दौरान सर्वाधिक प्रभावित होने वाले निर्धनों, दिहाड़ी मजदूरों और निम्न मध्यमवर्गीय परिवारों को जिला प्रशासन तथा शहर के स्वैच्छिक संगठनों व संस्थानों द्वारा राशन एवं आवश्यक सामग्रियां निःशुल्क वितरित कर यथासंभव सहयोग किया जा रहा है। उन्हें प्रतिदिन राशन दिया जा रहा है। अब कलेक्टर श्री रजत बंसल के आव्हान पर सब्जी विक्रेता संघ भी दरियादिली दिखाते हुए सब्जियां दान में देने अपनी सक्रिय भूमिका निभा रहा है।
इस संबंध में एसडीएम धमतरी श्री मनीष मिश्रा और नगरपालिक निगम के आयुक्त श्री आशीष टिकरिहा ने बताया कि कलेक्टर की अपील पर तालाबंदी के दौरान नवीन और पुरानी कृषि उपज मण्डी में थोक व चिल्हर सब्जियों का विक्रय निर्धारित समय में किया जा रहा है। चूंकि लाॅक डाउन के दौरान मण्डियों में लाई गई सब्जियां क्रेताओं की कमी के चलते काफी मात्रा में बच जाती हैं, इसलिए सब्जी विक्रेता संघ और स्थानीय सब्जी व्यापारियों ने सब्जियों को दान के तौर पर देने का निर्णय लिया। वहीं दूसरी ओर गरीब परिवारों को राशन के साथ-साथ सब्जियां भी निःशुल्क मुहैया हो सके, इसके लिए जिला प्रशासन द्वारा भी पहल की गई। अब राशन के साथ-साथ निर्धन परिवारों को हरी सब्जियां भी वितरित की जा रही हैं। एसडीएम ने बताया कि कल और आज मिलाकर कुल 16 क्विंटल सब्जियां दान स्वरूप प्राप्त हुईं, जिन्हें उसी दिन राशन के पैकेट साथ निःशुल्क वितरित की जा रही हैं। कल तीन अप्रैल को साढ़े छह क्विंटल तथा आज साढ़े नौ क्विंटल सब्जियां दानस्वरूप प्राप्त हुईं, जिन्हें जरूरतमंदों को बांटी जा रही हैं। उन्होंने बताया भी बताया कि जब तक लाॅकडाउन लागू रहेगा, तब तक प्रतिदिन सब्जी व्यवसायियों के द्वारा दान के तौर पर हरी सब्जियां और भाजियां गरीबों के लिए उपलब्ध कराई जाएंगी। कलेक्टर ने सब्जी विक्रेताओं की उक्त पहल एवं नवाचार की प्रशंसा की है।