योग ऋषि महेश मिश्रा ने युवाओं को राष्ट्र धर्म का बोध कराया 

601

राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित सत्येंद्र कुमार ने जवानों का बढ़ाया उत्साह

धमतरी| नौ दिनों के लॉकडाउन के बाद रिटायर्ड फौजी लोकेश साहू के मार्गदर्शन में रुद्रेश्वरघाट में फ्रीडम इंडियन आर्मी एंड पुलिस फिजिकल ट्रेनिंग फिर से शुरू हुई | ट्रेनिंग स्थल में  युवाओं    को राष्ट्र धर्म के बारे में जानकरी देते हुए योग ऋषि संत श्री महेश मिश्रा ग्राम गितपहर जिला कांकेर ने कहा कि राष्ट्र धर्म का पालन देश के सभी नागरिकों का कर्तव्य है|राष्ट्र धर्म से अभिप्राय राष्ट्र के प्रति नागरिकों के कर्तव्यों से होता है।राष्ट्र के प्रति प्रत्येक नागरिक के जो कर्तव्य हैं उन्हीं को राष्ट्रधर्म कहा जाता है।राष्ट्र धर्म के विषय में वेद में कहा गया है कि पृथ्वी मेरी माता है और मैं इसका पुत्र हूं।  मेरा देश मेरी माता है और मैं इसका पुत्र हूं।  हमें एक पुत्र की भांति अपने देश की रक्षा, पालन, उसके यश में वृद्धि और आवश्यकता होने पर देश के लिये प्राणों का न्योछावर भी करना  है | राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित सत्येंद्र कुमार साहू ने भी रुद्रेश्वरघाट में चल रही फ्रीडम इंडियन आर्मी एंड पुलिस फिजिकल ट्रेनिंग में अपने अनुभव शेयर किये | सत्येंद्र कुमार ने जवानों का मनोबल बढ़ाते हुए कहा कि देश सेवा में अब युवतियां भी अपनी भागीदारी निभा रही है| पहले इस क्षेत्र में लडकियां जाने से कतराती थी| लेकिन आज सेवा के कई क्षेत्र में पुरूषों से कंधे से कन्धा मिलाकर अपने काम को अंजाम दे रही है | देश की सरहदों में हमारे सैनिक दुश्मनों से लोहा लेने और मातृभूमि की रक्षा चौबीसों घंटे तैनात है | उन्होंने आगे कहा कि जिस विश्वास और संकल्प के साथ आपने ट्रेनिंग की शुरुआत की है | उसे पूरा करने कोई कसर न छोड़े | रिटायर्ड फौजी लोकेश साहू ने क्षेत्र के युवाओं के लिए देश सेवा के लिए निःशुल्क ट्रेनिंग की शुरुआत की है|वह काबिलेतारीफ है| उन्होंने जवानों का उत्साह बढ़ाते हुए ट्रेनर लोकेश कुमार साहू, पुरुषोत्तम साहू, वीना सिन्हा स्पोर्ट टीचर को शुभकामनाएं दी | ज्ञात हो कि राष्ट्रीय सेवा योजना सत्र 2018-19 में बेहतर परफॉर्मेंस देने पर पीजी कॉलेज धमतरी के सत्येंद्र कुमार साहू को राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 24 सितंबर को राष्ट्रीय सूचना केंद्र भोपाल में आयोजित ऑनलाइन कार्यक्रम के जरिए सम्मानित किया था |सत्येंद्र बाबू छोटेलाल श्रीवास्तव शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में वर्ष 2014- 15 से 2018- 19 तक नियमित छात्र रहे |इस अवधि में सत्येंद्र ने तत्कालीन प्राचार्य डॉक्टर चंद्रशेखर चौबे, एनएसएस के कार्यक्रम अधिकारी प्रोफेसर कोमल  प्रसाद यादव एवं पंकज जैन के मार्गदर्शन में रक्तदान, स्वच्छ भारत मिशन, पर्यावरण, जागरूकता, पौधरोपण, डिजिटल साक्षरता, एड्स जागरूकताअभियान, बाल अधिकार, नशा मुक्ति अभियान सहित विभिन्न कार्यक्रमों में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हुए सोशल वर्क से पूरे प्रदेश में एक विशेष पहचान बनाई थी|