मोदी के कृषक हितैशी बिल को लेकर गांवो मे जनचौपाल लगाने पहुंची विधायक रँजना साहू

259

उसलापुर के किसानो ने सराहा कृषिविधेयक
धमतरी | केंद्र सरकार के किसानों के लिए बनाए गए कृषि बिल की विशेषताओं को गांव गांव में किसानों तक पहुंच कर जन चौपाल लगाने हेतु विधायक रँजना डिपेन्द्र साहू पहुंच रही है इसी तारतम्य में उसलापुर में किसानों के बीच कृषि बिल की विशेषताओं से उन्हें अवगत कराते हुए कहा कि अप किसान अपने उपज का सही दाम प्राप्त करने के वास्तविक हकदार बनते हुए उपस्को जहां समर्थ मूल्य प्राप्त हो वहां बेचने के लिए स्वतंत्र रहेगा वही खेती के लिए यदि अपनी भूमि

को रेग मे देता है तो रेग के एवज में की गई संविदा को रेगमें लेने वाले क्षतिपूर्ति देकर कभी भी रद्द कर सकता है साथ ही रेग के शर्तों का यदि उल्लंघन किया जाता है तो खेत का मालिक अनुविभागीय अधिकारी के न्यायालय में वाद प्रस्तुत कर 30 दिन के अंदर में न्याय प्राप्त करते हुए समुचित राशि के डेढ़ गुना राशि प्राप्त करने का हकदार रहेगा वहीं विधायक श्रीमती साहू ने किसानों को समझाया कि पिछली केंद्र की सरकारों ने किसानों का सिर्फ शोषण किया है जबकि किसान वास्तव में अन्नदाता होकर सर्वहारा समाज का पोशाक है किंतु सबसे ज्यादा शोषित आज कोई समाज है तो कृषक वर्ग है इसकी चिंता व शुद्ध लेने वाला कोई व्यक्ति यदि देश में है तो वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी है केंद्र सरकार के कृषि बिल लोकसभा व राज्यसभा में प्रस्तुत कर पास करें किया जाना एक साहसीक ऐतिहासिक कदम है श्रीमती साहु ले राज्य सरकार की नीयत और नीति पर प्रश्नचिन्ह उठाते हुए कहा कि यदि वह वास्तव में एक रेखा की तेजी है तो कृषि के क्षेत्र को संपन्न करने के लिए अपने वादे को घोषणा पत्र के अनुरूप पूरा करें आज किसान बोनस की राशि प्राप्त करने के लिए भटक रहा है बिजली बिल के बोझ तले दबे हुए किसान ऋण से ग्रसित हो गए हैं खेती में बीमारी होने से वर्तमान फसल चौपट होने की स्थिति में राज्य सरकार कंगाल हो चुका है किसान सहित पूरे राज्य की जनता का अरमान टूट चुके हैं तार तार हो गया है ऐसे में यदि जनता किसी की ओर निगाह आशापूर्ण दृष्टि से देख रही है तो वहां है केंद्र की मोदी सरकार उक्त सारी बातों को किसानों को समझाते हुए किसान हितेषी बेल को शिकार बनाने हेतु विधायक रँजना साहू ने सभी किसानों से आह्वान किया