महिला मोर्चा ने भूपेश सरकार के टिप्पणी मंत्री को आड़े हाथ लिया

81

यत्र नार्यसु पूज्यंते रमंते तत्र देवता-बीथिका विश्वास

धमतरी। यत्र नार्यस्तु पूज्यंते रमंते तत्र देवता यदि छत्तीसगढ़ के भूपेश सरकार के कैबिनेट कम और टिप्पणी मंत्री ज्यादा कावासी लखमा उक्त श्लोक का अर्थ समझते तो जानते कि आदिकाल से नारी का स्थान सर्वोच्च है केवल सोनिया और प्रियंका गांधी को ही नारी मानकर चाटुकारिता करने वाले श्री लखमा को अपनी हरकतों से बाज आना चाहिए। भाजपा की प्रदेश प्रभारी श्रीमती डी. पुरंदेश्वरी पर मंत्री कवासी लखमा की टिप्पणी का विरोध थमते नजर नहीं आ रहा है इसी तारतम्य में जिला भाजपा महिला मोर्चा की अध्यक्ष श्रीमती बीथिका विश्वास ने उक्त बातें कहते हुए मंत्री कवासी लखमा को धिक्कारा है।

उन्होंने आगे कहा कि भारत में आधी आबादी मातृ शक्तियों की है। छत्तीसगढ़ में आज जो झूठ और छल कपट से बनी कांग्रेस की सरकार है उनके सत्तारूढ़ होने में भी महिलाओं का ही योगदान है। क्योंकि बघेल की सरकार महिलाओं से झूठ बोलकर उनकी भावनाओं के साथ खिलवाड़ कर सत्तासीन हुई है। आज सत्ता के नशे में मदमस्त होकर बघेल के कैबिनेट एवं आबकारी मंत्री कवासी लखमा जो पता नहीं किस नशे में धुत रहते हैं नारी शक्तियों के ऊपर अभद्र टिप्पणी कर अपनी ओछी मानसिकता का परिचय दे रहे हैं। जोकि घोर निंदनीय है आबकारी मंत्री को तो यह भी पता नहीं है कि जब कोई महिला राष्ट्र सेवा में अपना समय देती है तो उसके पीछे उसका अमूल्य त्याग और तपस्या निहित होता है, ऐसे में आए दिन कांग्रेस पार्टी के नेताओं के द्वारा अनर्गल बातें कहना घृणित मानसिकता को दर्शाता है। जब से कांग्रेस की सरकार सत्तारूढ़ हुई है तब से हम देख रहे हैं कि आए दिन प्रदेश में बलात्कार, महिला उत्पीड़न जैसे मामले बढ़ते जा रहै हैं। बघेल की सरकार महिलाओं को सुरक्षा देने के क्षेत्र में पूर्णत विफल हो चुकी है। उनको तो लोक लुभावने वादे करने से ही फुर्सत नहीं है महिला सुरक्षा की अपेक्षा उनसे करना बेमानी होगी। छत्तीसगढ़ में पूर्ण शराबबंदी की बात करते हैं वही हमने देखा कि कैसे शराबी पति के उत्पीड़न से हमारी बहनें अपने पांच 5 बच्चों सहित आत्महत्या करने के लिए विवश हो रही हैं।
चंद दिनों पहले ही अधारी नवागांव में किस तरह महिलाओं को उनकी अपनी जमीन से बेदखल कर जबरदस्ती निगम कर्मचारी एवं पुलिस प्रशासन के द्वारा सरकारी गाड़ी में उन्हें ठूस कर थाने ले जाया गया और उनके साथ अभद्रता की गई, जिला महिला मोर्चा इसकी कड़ी भर्त्सना करती है। सरकार को चाहिए कि अगर किसी को तथाकथित अतिक्रमित भूमि से वंचित किया जाना है तो ससम्मान उन्हें नोटिस दें।महिलाओं के साथ अभद्रता पूर्ण व्यवहार सिर्फ और सिर्फ कांग्रेस के राज में ही होता है। जिसका की महिला मोर्चा की बहनें घोर विरोध करती हैं।
छत्तीसगढ़ के आबकारी मंत्री के द्वारा हमारी प्रदेश प्रभारी सम्माननीय डी पुरंदेश्वरी के संबंध में जो अभद्र टिप्पणी की गई है उस पर भारतीय जनता पार्टी महिला मोर्चा की बहनें श्री बघेल से पूछती हैं कि क्या यही सम्मान बाकी रह गया है आपके राज में माता बहनों के लिए। अपनी राष्ट्रीय नेतृत्व का अपमान महिला मोर्चा की बहनें कदापि नहीं सहेंगी हम सब इसकि घोर भर्त्सना करते हैं। भाजपा जिला मीडिया प्रभारी तल्लीन पुरी गोस्वामी ने जिला भाजपा महिला मोर्चा के हवाले से बताया कि यदि कैबिनेट मंत्री ने जल्द से जल्द अपने कृत्य की माफी नहीं मांगी तो जिला भाजपा महिला मोर्चा बड़े आंदोलन कर रुख करेगा। जिसकी तमाम जिम्मेदारी जिला प्रशासन और सरकार की होगी।
कैबिनेट मंत्री को लानत भेजने वालों में किसान मोर्चा की राष्ट्रीय महासचिव पिंकी शिवराज शाह, विधायक रंजना साहू, हेमलता शर्मा, अर्चना चौबे, कल्पना रणसिंह, भारती खंडेलवाल, श्यामा नरेश साहू, ज्योति चंद्राकर, प्रभा मिश्रा, पूर्णिमा साहू, मोनिका देवांगन, हेमलता यादव, प्रेमलता नागवंशी, आराधना शुक्ला, दिनेश्वरी नेताम, पार्वती वाधवानी, विद्या यादव, राखी साहू, जागृति साहू, रश्मि साहू, हेमलता देवांगन, लक्ष्मी साहू, रितिका यादव, दमयंती साहू, पवित्रा दीवान, सुलोचना साहू, ईश्वरी नेताम, बबीता साहू, गीतेश्वरी साहू, परिणीता साहू, बरखा शर्मा चंद्रकला पटेल, सीमा चौबे, ममता सिन्हा, सरिता यादव, गायत्री सोनी, गीता शर्मा, संध्या हिरवानी, अनीता सोनकर, अनीता अग्रवाल, पूजा कुंजाम उषा कौशिक, दमयंती गजेंद्र संतोषी साहू, रूपा नागदेवे दीपा सोनवानी हैं।