मनरेगा कार्यों से मिली ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती जिले में अब तक 01 लाख 12 हजार मजदूरों को मिला काम

475

धमतरी | जिले में कलेक्टर  रजत बंसल के मार्गदर्शन एवं जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी के निर्देशन में लाॅकडाउन से निपटने 370 पंचायतों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना अंतर्गत कार्य प्रारंभ किये गये हैं। इन कार्यों से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को मजबूती मिली है। पंचायतों में चल रहे नये और पुराने कार्यों में अब तक प्रतिदिन औसत 01 लाख 05 हजार श्रमिकों को रोजगार मिला तथा कुल 43 करोड़ 80 लाख 44 हजार रूपये की मजदूरी भुगतान किया जा चुका है।


कोरोना संक्रमण जैसे विश्वव्यापी महामारी से बचाव हेतु श्रमिकों के खातों में मजदूरी राशि मिलने से ग्रामीण अर्थव्यवस्था को नया बल मिला। महिलाएं भी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कंधे से कंधा मिलाकर महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के कार्यों में भागीदारी निभा रही है।
जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती नम्रता गांधी ने बताया कि-वित्तीय वर्ष 2020-21 में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजनांतर्गत श्रमिकों ने 21.49 लाख मानव दिवस से अधिक का रोजगार सृजित किये गये हैं। लाॅकडाउन से निपटने ग्रामीणों की आर्थिक समस्या को देखते

हुए सभी पंचायतों में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के कार्य प्रारंभ कराये गये हैं। केन्द्र एवं राज्य सरकार के निर्देशानुसार कार्य स्थल में मजदूरों के स्वच्छता हेतु हैण्डवाश, साबुन तथा सेनेटाईजर से हाथ की धुलाई करने, सुरक्षा के लिए फेस मास्क, गमछा का उपयोग करने,  सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने सरपंच, सचिव, रोजगार सहायक, मेट को निर्देशित किया गया है। कार्य उपरांत मजदूरों को समय पर मजदूरी भुगतान के साथ-साथ जिला एवं जनपद स्तरीय अधिकारियों द्वारा कार्यस्थल का सतत् निरीक्षण एवं निगरानी की जा रही है।