बंधक जवान की रिहाई हेतू युवा मोर्चा ने छोडे शांति के प्रतीक गुब्बारे व कबूतर कोबरा कंमाण्डो राकेश्वर सिंह को निशर्त व शीध्र छोडे नक्सली-विजय मोटवानी

10

धमतरी | बस्तर में बीजापुर के सैन्य बल के जवानों तथा नक्सलवादियों के बीच हुए मुठभेड़ के बाद कोबरा कमांडो जम्मू कश्मीर के निवासी राकेश्वर सिंह मन्हास को नक्सलवादियों द्वारा उठा के लेजा कर बंधक बनाके रखे जाने की निरंतर खबर आ रही है जिसे सकुशल वापस लाने हेतु विभिन्न स्तरों पर केंद्र सरकार ने प्रयास भी प्रारंभ कर दीये हैं इसी बीच भारतीय जनता युवा मोर्चा ने माँ कर्मा जयंती के अवसर पर उनसे शांति की प्रार्थना करते हुए अमन,चैन,कुशलता के प्रतीक श्वेत कबूतर तथा खुले आसमान में गुब्बारा छोड़कर बस्तर के प्राकृतिक छटा बिखेरने वाले अनुपम वादियों को शांति के टापू के रूप में पुनः विकसित करने की अपील करते हुए बंधक कोबरा कमांडो राकेश्वर सिंह मन्हास को सकुशल रिहा किए जाने की मांग किया गया है मोर्चा के जिलाध्यक्ष विजय मोटवानी ने कहा है

कि मातृभूमि की सेवा करने वाले जवान को बंधक बनाया जाना एक कायरता पूर्ण कार्य है जिसकी हम सब निंदा करते हैं तथा बंधक जवान के परिवार को विश्वास दिलाते हैं कि संकट व दुख की इस घड़ी में भारतीय जनता पार्टी वह पूरा युवा मोर्चा नैतिक रूप से उस परिवार के साथ खड़ा है साथ ही केंद्र वह राज्य सरकार से अपील करते हैं कि सकुशल बंधक जवानों की वापसी के लिए समुचित कदम उठाये जाने की मांग की है, तथा आगे कहा है कि बंधक बनाए जाने के दोषी नक्सलवादियों के मंसूबे को कुचलने हेतु सैन्य कर्यवाही की जाए। गौरतलब है उक्त कार्य कोविड-19 प्रोटोकॉल के चलते सीमित स्वरूप में किया गया।
इस अवसर पर कहां गए निगम पूर्व सभापति राजेंद्र शर्मा नेता प्रतिपक्ष नरेंद्र रोहरा पूर्व जिला अध्यक्ष राजीव सिन्हा पार्षद हेमंत बंजारे जय हिंदूजा श्वेता गजपाल कैलाश सोनकर देवेश अग्रवाल अभिषेक शर्मा आशीष शर्मा पवन गजपाल गोपाल साहू जयदीप विश्वास उपस्थित थे

tushar