प्रदेश में बहू-बेटियां असुरक्षित, जवाबदार मंत्री का बयान निंदनीय

473

अनिता ध्रुव ने पीड़ित परिवार को न्याय व मुआवजा नहीं मिलने पर धरना-प्रदर्शन की चेतावनी दी 

नगरी | भाजपा आदिवासी नेत्री व जिला पंचायत सदस्य अनिता ध्रुव ने कहा कि छत्तीसगढ़ में आए दिन बहू-बेटियों, महिलाओं पर यौन अपराध की घटना घट रही है | प्रदेश में बहू बेटियां असुरक्षित असूरक्षित महसूस कर रही है| कानून-व्यवस्था पूरी तरह चरमरा गई है। अपराधी  बेखौफ अपराध को अंजाम दे रहे हैं। बेटियों के साथ लगातार अनाचार के प्रकरण सामने आ रहे हैं। राज्य सरकार बेटियों की सुरक्षा करने में असक्षम हैं। केशकाल, बलरामपुर में घटित घटना निंदनीय है| उससे ज्यादा निंदनीय शासन के जवाबदार मंत्री का बेतुका बयान है| अनिता ध्रुव ने आगे कहा कि कोण्डागांव जिला के आदिवासी बाहुल्य विकासखण्ड केशकाल में एक आदिवासी बालिका के साथ घटी घटना से पूरा छत्तीसगढ़ स्तब्ध है | घटना के दो माह बाद भी जानकारी के बावजूद रिपोर्ट दर्ज नही होना प्रशासन पर प्रश्न चिन्ह है। पीड़िता के पिता द्वारा न्याय न मिलने के कारण आत्महत्या का प्रयास करना शासन- प्रशासन के मुंह पर तमाचा है। उन्होंने आगे कहा कि राहुल गांधी व प्रियंका वाड्रा का यहां की घटना पर एक भी शब्द न बोलना कांग्रेस की दोहरी मानसिकता को दर्शाता है। हाथरस की घटना पर जगह-जगह धरना प्रदर्शन करने वाले कांग्रेस कार्यकर्ता अब कहां छुप गए हैं । क्या हमारे प्रदेश की बहू-बेटियों को न्याय दिलाने के लिए धरना प्रदर्शन की जरूरत नहीं है। उन्होंने चेतावनी दी है कि अगर पीड़ित परिवार को जल्द से जल्द न्याय व मुआवजा नहीं मिला तो वे खुद क्षेत्र की बहू-बेटियों के साथ धरना प्रदर्शन करेंगी |