पोला पर पुलिस कर्मियों ने दौड़ाए नादिया बैल, याद आए बचपन

633

जवानों में छिपी प्रतिभा को सामने लाने देशभक्ति गीत स्पर्धा, कोरोना वारियर का सम्मान  

एसपी ने पारंपरिक पोला तिहार से की कार्यक्रम की शुरुआत

धमतरी |पुलिस जवानों की समस्या को जानने और उन्हें कर्तव्य के साथ-साथ पारिवारिक दायित्वों के निर्वहन दौरान मानसिक तनाव से मुक्त रहकर उत्कृष्ठ कार्य करने के लिए प्रोत्साहित करने  पुलिस महानिदेशक डी.एम. अवस्थी द्वारा स्पंदन अभियान की शुरुआत की गई है। पुलिस अधीक्षक बी.पी. राजभानू द्वारा समय-समय पर इकाई में पदस्थ जवानों से रू-बरू होकर उनकी समस्याओं को  निराकरण किया जा रहा है।

इसी क्रम में छत्तीसगढ़  के पारंपरिक त्यौहार पोला तिहार के उपलक्ष्य में पुलिस कप्तान बी.पी. राजभानू एवं उप कप्तान श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे ने आज इकाई में पदस्थ पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों के साथ पोला त्यौहार मनाया । सर्वप्रथम मिट्टी से बने बैलों की दौड़ का आयोजन किया गया, जिसमें पुलिस अधिकारी व कर्मचारी बैलों को दौड़ाते हुए नजर आए | पारंपरिक खेल को देखकर सभी कर्मचारियों को उनका बचपन याद आ गया। निरीक्षण प्रणाली वैद्य, गगन बाजपेई, भावेश गौतम, उमेंद टंडन, बिपिन लकडा, कोमल नेताम, युगल नाग ने भी दौड़ में हिस्सा लिया। जिसमे गगन बाजपेई ने प्रथम स्थान प्राप्त किया |

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक मनीषा ठाकुर रावटे ने कोरोना काल लॉकडाउन के दौरान सहायक आरक्षकों से लेकर सभी पुलिस अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा किए गए कार्यों को प्रोजेक्टर के माध्यम से सबके सामने रखा गया। इस मौके पर एसपी  ने कहा कि यदि अपना काम सही ढंग से करें तो विकट से विकट परिस्थिति का सामना आसानी से किया जा सकता है, इसी का परिणाम है कि धमतरी पुलिस ने अपना श्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए समाज में स्वच्छ व सराहनीय छवि निर्मित की। यह सफलता मेरी नहीं अपितु आप सबकी कड़ी मेहनत व लगन की है| तत्पश्चात राज्य स्तरीय पुरस्कार से पुरस्कृत किए गए निरीक्षक दिनेश कुर्रे एवं प्रधान आरक्षक दिलहरण सिंह ठाकुर को सम्मानित किया गया। कोरोना संक्रमण काल में इकाई के प्रत्येक थाना व चौकी में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारी व कर्मचारियों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया |

इस दौरान पुलिस अधिकारी व कर्मचारियों में छिपी हुई प्रतिभा को दिखाने का अवसर देते हुए देशभक्ति गीत-संगीत का आयोजन किया गया| इसकी शुरुआत वायरलेस शाखा में पदस्थ महिला आरक्षक रामेश्वरी साहू ने ए मेरे वतन के लोगों देशभक्ति गीत गाकर की, फिर बारी-बारी से सभी प्रतिभागियों ने अपनी-अपनी प्रस्तुति दी। जिसमें देशभक्ति गीत गायन में रक्षित निरीक्षक के देवराजू, निरीक्षक गगन वाजपेई, प्रणाली वैद्य, अरुण उईके, सूबेदार (स्टेनो) अखिलेश शुक्ला, सूबेदार रेवती वर्मा, उपनिरीक्षक शांता लकड़ा, सहायक उपनिरीक्षक प्रेम प्रसाद उपाध्याय, प्रधान आरक्षक दिनेश सोनकर, आरक्षक रामाधार कोर्राम, विनोद राय, विजय शर्मा, डीगेश शर्मा, तिजेंद्र साहू, प्रमोद साहू, नागेंद्र पांडेय, संदीप पांडेय चेतन साहू, कुलदीप सिंह, महिला आरक्षक मोहनी गोस्वामी, तनुजा कंवर, सोनिया सोनबेर ने अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाते हुए खूब तालियां बटोरी। आरक्षक सुजय मंडल ने एक प्रशिक्षित योग गुरु की भांति योग के विभिन्न आसनों का प्रदर्शन किया। नन्हे बाल कलाकार मैथली रावटे, गुणज्ञ वैद्य एवं पल्लवी कतलम ने समूह नृत्य की मनमोहक प्रस्तुति दी।

कार्यक्रम की शुरुआत से लेकर समापन तक पुलिस अधीक्षक महोदय  बी.पी. राजभानु, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय  अरुण जोशी, उप पुलिस अधीक्षक अजाक श्रीमती सारिका वैद्य, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी नगरी  नीतिश ठाकुर, रक्षित निरीक्षक के देव राजू एवं इकाई के सभी थाना व चौकी के प्रभारीगण, सूबेदार रेवती वर्मा, सूबेदार (स्टेनो) अखिलेश शुक्ला, पुलिस कार्यालय के अधिकारी व कर्मचारीगण तथा अत्यधिक संख्या में कर्मचारीगण उपस्थित रहे, जिन्होंने करतल ध्वनि से प्रतिभागियों का उत्साहवर्धन करते हुए कार्यक्रम को सफल बनाया। कार्यक्रम का आभार प्रदर्शन उप पुलिस अधीक्षक अजाक  सारिका वैद्य व मंच संचालन सूबेदार (स्टेनो) अखिलेश शुक्ला ने किया।