न्याय योजनाओं से प्रदेश की जनता को मिली राहत : महापौर

564

मुख्यमंत्री की मासिक रेडियो वार्ता लोकवाणी सुनने के बाद जनप्रतिनिधियों ने दी प्रतिक्रिया

धमतरी | मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मासिक रेडियो वार्ता लोकवाणी की 9वीं कड़ी का प्रसारण आज आकाशवाणी सहित विभिन्न क्षेत्रीय समाचार चैनलों व एफएम रेडियो में किया गया। इसे सुनने के बाद नगर निगम धमतरी के महापौर  विजय देवांगन ने निगम सभाकक्ष में अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि प्रदेश की जनता को सही मायने में राहत सरकार की न्याय

योजनाओं के क्रियान्वयन के बाद मिली। उन्होंने आगे कहा कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल के नेतृत्व में सरकार एक सच्ची हितैषी की भूमिका निभा रही है। पहले किसान न्याय योजना के तहत 2500 रुपए में किसानों की मेहनत का प्रतिफल दिया जा रहा है, फिर उसके बाद गोधन न्याय योजना से ग्राम एवं नगर स्तर पर रोजगार का ऐतिहासिक नवाचार का मुख्यमंत्री ने आगाज़ किया, जिसकी चहुंओर सराहना हो रही है। इसके लिए मौजूदा सरकार निश्चित तौर पर बधाई की पात्र है। निगम के सभापति अनुराग मसीह ने लोकवाणी सुनने के बाद सबको विश्व आदिवासी दिवस की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि मुख्यमंत्री श्री बघेल ने अपने संक्षिप्त कार्यकाल में लोकहित के लिए अनेक ऐतिहासिक निर्णय लिए हैं और योजनाओं का भी उसी गति से क्रियान्वयन हो रहा है। उन्होंने आगे कहा कि 20 जुलाई को शुरू हुई गोधन न्याय योजना सबसे बेहतर योजना है जिससे गोबर से आय अर्जित करने व स्वरोजगार अपनाया जा सकता है। इस योजना से एक साथ बहुद्देशीय लक्ष्यों की पूर्ति संभव है।

उल्लेखनीय है कि आज लोकवाणी का प्रसारण आकाशवाणी के सभी केंद्रों, एफ.एम. चैनलों और राज्य के क्षेत्रीय न्यूज़ चैनलों में सुबह 10:30 से 10:55 तक किया गया, जिसकी श्रवण की व्यवस्था नगर पालिक निगम के सभा हाल में की गई थी। ज्ञातव्य है कि मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने समाज के हर वर्ग की भावनाओं, सवालों और सुझाव से अवगत होने तथा अपने विचार साझा करने के लिए लोकवाणी रेडियो वार्ता शुरू की है लोकवाणी में इस बार का विषय ‘न्याय योजनाएं, नई दिशाएं’ था। शुरुआत में मुख्यमंत्री ने कोरोना संक्रमण के बारे में कहा कि कोरोना नियंत्रण में प्रदेश बेहतर स्थिति में है लेकिन सावधानी बरतने की बेहद आवश्यकता है। मुख्यमंत्री ने रेडियो वार्ता में बताया कि आज के दिन ही भारत छोड़ो आंदोलन की शुरुआत हुई थी जिसे समस्त भारतवासी क्रांति दिवस के रूप में मनाते हैं जिसकी शंखनाद हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के द्वारा हुई थी। साथ ही मुख्यमंत्री ने विश्व आदिवासी दिवस की बधाई दी और कहा कि आदिवासी समाज के उत्थान की दिशा और दशा कैसी हो, इस पर समीक्षा करने की जरूरत है ।
इस अवसर पर नगर के वरिष्ठ नागरिक गण, निगम के कार्यपालन अभियंतारा राजेश पदमवार, स्वास्थ्य अधिकारी सतीश चंद्र त्रिपाठी उपस्थित थे।