नन्हे हाथो ने पेश की पुनीत भावनाओ की मिसाल

643

(राजेश रायचुरा) धमतरी । हम आज ऐसे  बच्चो की बात कर रहे है जो आपस में भाई बहन तो साथ में उनका एक मित्र भी शामिल है  ये मित्रता पारिवारिक है इन नन्हे बच्चो ने कोरोना के लॉकडाउन में घर पर रहते हुए अपनी पढाई के साथ साथ अपने रचनात्मक गुणों में भी निखार लाया है | इन तीनो ने मिलकर समय का उपयोग करते हुए विभिन्न प्रकार की आकर्षक राखियो का निर्माण किया साथ ही अपने छोटे छोटे  हाथो से अपने मन की बातो को कागजो में उकेरा है |

इन बच्चो के नाम है ईशी रावटे, दक्ष रावटे और गुणज्ञ  वैद्य ये धमतरी जिले में पदस्थ अतिरिक्त पोलिस अधिक्षक मनीषा ठाकुर रावटे एवं डी एस पी सारिका वैद्य के बच्चे है |

बच्चो ने बताया कि लॉकडाउन में पढाई के साथ ही  साथ खाली समय में इन कार्यो को समय दिया और घर के लिए राखियाँ बनाई एवं पेंटिंग की जब हमने घर वालो को बताया की ये हमने बनाया है तो हमें घर वालो की तरफ से काफी प्रसंशा मिली और हमारा उत्साह वर्धन किया एवं फिर सभी परिचितों को बताया तो हमारी राखियो को खरीदने की इच्छा जाहिर की तो हमने कुछ राखियो की बिक्री भी की है |

इन बच्चो के द्वारा बनाई गई राखियो और पेंटिंग की काफी प्रशंसा की जा रही है |