नगर निगम के सभी 40वार्डों में मास्टर ट्रेनर्स द्वारा किया गया व्यापक प्रचार-प्रसार,कोविड से बचाव के लिए वार्ड पार्षदों के साथ मितानिनों व वाॅलिंटियर्स को किया गया प्रशिक्षित

130

धमतरी | नोवेल कोरोना वायरस कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण को दृष्टिगत करते हुए कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी श्री जयप्रकाश मौर्य के आदेशानुसार आमजनता में व्याप्त भ्रांतियों को दूर कर जागरूकता लाने तथा इसे लेकर सकारात्मक जनमत तैयार करने के उद्देश्य से धमतरी नगर निगम के सभी 40 वार्डांे में छह टीम गठित कर दो से चार मई के बीच मास्टर ट्रेनरों द्वारा अपने-अपने प्रभार वार्ड में प्रशिक्षण दिया गया। निगम के आयुक्त श्री मनीष मिश्रा ने बताया कि प्रशिक्षण के दौरान कलेक्टर द्वारा अनौपचारिक साक्षात्कार में दिए गए वक्तव्यों के वीडियो फुटेज को दिखाया गया, जिसमें जिले में कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए जिला प्रशासन द्वारा बनाई गई रणनीति व इसे लेकर किए जा रहे क्रियान्वयन की जानकारी दी गई। साथ ही आमजनता में कोरोना को लेकर फैली भ्रांतियां एवं अफवाहों तथा वास्तविकता के बारे में वीडियो फुटेज में बताया गया।

वीडियो क्लिप्स के माध्यम से कलेक्टर द्वारा कोरोना संक्रमण से बचने के उपाय और जनता से अपील, टीकाकरण से लाभ, रेमडेसिविर इंजेक्शन संबंधी जानकारी, शासकीय अस्पतालों में उपलब्ध सुविधाएं एवं संसाधन के बारे में बताया गया। इसके अलावा युवा वर्ग से सतर्कता की अपील, जिले में स्थापित आइसोलेशन सेंटर में शासन की गाइड लाइन के अनुरूप कोविड से बचाव के अनुकूल व्यवहार, जनजागरूकता अभियान में समुदाय की भूमिका, लक्षणात्मक मरीजों के लिए मितानिनों के माध्यम से वितरित की जा रही दवाई, लक्षण मिलने पर तुरंत जांच कराने संबंधी अपील, लाॅकडाउन के लाभ सहित कोविड-19 से संबंधित विभिन्न समस्याओं एवं उनके समाधान पर उक्त वीडियो फुटेजेस में कलेक्टर द्वारा जानकारी दी गई। साथ ही मास्टर ट्रेनर्स के द्वारा वैक्सीनेशन के प्रति जनजागरूकता लाने का प्रयास किया एवं कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए संक्रमण का दायरा न्यूनतम करने व इसकी श्रृंखला तोड़ने के उद्देश्य से लोगों में आचार-व्यवहार, लक्षण दृष्टिगोचर होने पर क्या करें, क्या न करें आदि के संबंध में बताया गया।

इसी तरह शासकीय एवं होम आइसोलेशन की शर्तें, सामाजिक दूरी बनाए रखने, मास्क पहनने, सैनिटाइजर का उपयोग करने जैसी विभिन्न गतिविधियों के बारे में मास्टर ट्रेनरों द्वारा जानकारी दी गयी जिससे आम लोगों में व्यापक जागरूकता व समझ विकसित हो सके।