नगर अध्यक्ष एवं पार्षदों को जांच में लीपापोती की आशंका,  मामला नगर पंचायत में भ्रष्टाचार का

455

टकेश्वरपुरी गोस्वामी 

भखारा | तीन सितंबर को नगर पंचायत कार्यालय के केशियर द्वारा आवश्यक दस्तावेजों को फाड़ कर नष्ट किया गया है |उसकी सुक्ष्म एवं निष्पक्ष जांच घटनास्थल पर आम जनता के बीच होनी चाहिए | यह मांग निर्वाचित जनप्रतिनिधियों ने प्रशासन से की है|

इस मामले में नगर अध्यक्ष पुष्पलता देवांगन, उपाध्यक्ष दुलेश्वर  साहू, पार्षद रोशन केला सहित जनप्रतिनिधियों ने  कहा कि प्रशासन घटनास्थलनगर पंचायत कार्यालय में आम जनता के बीच इस मामले की  जांच करें|  हमें इस मामले को ठंडे बस्ते में डालकर लीपापोती करने की आशंका है| ज्ञात हो कि राजधानी के उच्च कार्यालय के ज्वाइन डायरेक्टर जायसवाल नगर पंचायत कार्यालय भखारा पहुंचकर बोरी में भरे कटे-फटे दस्तावेजों को लेकर रायपुर ले गए हैं और वहीं  जांचकर वस्तुस्थिति की जानकारी देने  की बात कही है | इस मामले में नगर अध्यक्ष पुष्पलता देवांगन का कहना है कि घटना दिनांक को आवक जावक शाखा को सील कर दिया गया था जिसे जेडी जयसवाल के समक्ष खोला गया जहां बोरी में भरे कुछ रजिस्टर एवं रसीद बुक के टुकड़ों को लेकर रायपुर गए|

आम जनता की मांग है कि भ्रष्टाचार की जांच घटनास्थल पर ही होनी चाहिए | रायपुर से आए अधिकारी जो कटे-फटे दस्तावेजों को लेकर गए हैं उसकाआधा टुकड़ा तो कार्यालय में रखा है | ऐसे में जांच कैसे पूरी होगी | सूक्ष्म जांच तभी संभव है जब कार्यालय में पड़े दस्तावेज  की  फटी हुई  रसीद बुक एवं रजिस्टर से मिलान किया जाएगा तभी गड़बड़ी सामने आएगी |इस मामले में निष्पक्ष जांच के लिए प्रशासन को जांच समिति का गठन करना चाहिए |जनप्रतिनिधियों ने आगे कहा कि उन्हें आशंका है कि इस मामले को ठंडे बस्ते में डाल दिया जायेगा | इनकी  निष्पक्ष  जांच जनता के  सामने होनी चाहिए |