धमतरी नगर पालिका निगम में कांग्रेस का कब्ज़ा विजय देवांगन महापौर अनुराग सभापति

713
धमतरी।  नगर पालिका निगम के दुसरे माहपौर कांग्रेस के विजय देवांगन निर्वाचित हुए  और पुराने भा ज पा के तिलस्म को तोडा जब से धमतरी में नगर पालिका थी तब से भाजपा का ही कब्जा था जिसमें कांग्रेस ने अपना कब्जा कर इतिहास  रच दिया माहपौर के साथ ही कांग्रेस के ही अनुराग मसीह सभापति निर्वाचित हुए कांग्रेस को कुल 18 पार्षद मिले थे और भाजपा को 17 ।तीन निर्दलीय पार्षद कांग्रेस के समर्थन में आ गए इस तरह से उनकी सीट 21 हो गई थी, और भाजपा ने 2 निर्दलीय समर्थन का दावा किया था जिसमें 19 बताया गया था। लेकिन जब वोट पड़े तो एक अधिक वोट मिले विजय देवांगन को 22 मिले।इसी तरह जब सभापति का चुनाव हुआ तो 4 वोट अधिक प्राप्त हुए हैं ।
विजय देवांगन ने महापौर,अनुराग के सभापति के विजयी घोषणा के बाद जश्न मनाते हुए रैली की शक्ल में सभी पैदल कांग्रेस भवन पहुंचे । कांग्रेस भवन पहुंचे ही विजय देवांगन ने मत्था टेककर प्रवेश किया। जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी ने कहा इतिहास बदल कर रख दिया है कार्यकर्ताओं की मेहनत का नतीजा है। चुनाव प्रभारी ने भी कहा कि यह जनता की जीत है उन्होंने शुभकामनाएं दी युवा नेता आनंद पवार ने कहा कि पहली बार कांग्रेस के महापौर सभापति बने हैं ।आगे धमतरी में विकास के आयाम गढ़े जाएंगे ।उन्होंने कहा कि 5 साल के बाद यह इतिहास फिर से दोहराया जाएगा और धमतरी की सारी जरूरतें पूरी होंगी ।
नव निर्वाचित महापौर विजय देवांगन ने कहा कि आज की जीत सभी कार्यकर्ताओं की जीत है ।इसका श्रेय उन्होंने मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ,प्रभारी मंत्री कवासी लखमा ,प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम, रामगोपाल अग्रवाल को दिया ।इसके अलावा जिला अध्यक्ष मोहन लालवानी ,पूर्व विधायक गुरुमुख सिंह होरा, हर्षद मेहता ,योगेश लाल ,नरेश जसूजा, आनंद पवार सहित पार्षदों का आभार माना ।उन्होंने कहा कि यह सिर्फ मैं ही नहीं हूं आप सभी मेयर बने हैं ।विश्वास दिलाता हूं कि यहां पर विकास की गति को रफ्तार से बढ़ाएंगे और आगे 135 साल भी राज करते रहेंगे ।नवनिर्वाचित सभापति अनुराग मसीह ने भी जनता और कांग्रेस कार्यकर्ताओ का आभार माना ।
 नगरपालिक निगम धमतरी के महापौर और सभापति का निर्वाचन सम्पन्न
नगरीय निकाय निर्वाचन 2019-20 के तहत आज नगरपालिक निगम धमतरी के नवनिर्वाचित पार्षदों का प्रथम सम्मिलन हुआ, जिसमें महापौर एवं सभापति (स्पीकर) पद का निर्वाचन सभी 40 वार्डों के पार्षदों के द्वारा मतदान कर किया गया, जिसके तहत कलेक्टर एवं निर्वाचन के पीठासीन अधिकारी रजत बंसल ने महापौर पद के लिए विजय देवांगन तथा सभापति पद के लिए  अनुराग मसीह को विजयी घोषित कर उन्हें प्रमाण-पत्र प्रदान किया।
नगरपालिक निगम के कार्यालय में  महापौर एवं सभापति पद के निर्वाचन के लिए सुबह 10 बजे सभी पार्षदों को पद एवं गोपनीयता की शपथ पीठासीन अधिकारी द्वारा दिलाई गई, जिसके उपरांत दोपहर 12.00 बजे उक्त दोनों पद हेतु नाम-निर्देशन दाखिल किए गए। इसमें महापौर पद हेतु धनीराम सोनकर एवंविजय देवांगन ने नाम-निर्देशन पत्र दाखिल किए, जबकि सभापति पद के लिए  अनुराग मसीह एवं राजेन्द्र प्रसाद शर्मा ने नाम-निर्देशन पत्र दाखिल किए। इसके उपरांत नगरपालिक निगम कार्यालय के प्रथम तल पर स्थित सभाकक्ष में दोनों पदों के लिए दोपहर डेढ़ से ढाई बजे के बीच मतदान सम्पन्न हुआ, जिसमें सभी 40 वार्डों के पार्षदों ने मतपत्र पर मुहर लगाकर उसे मतदान पेटी में डाला। तत्पश्चात् पीठासीन अधिकारी और सभी पार्षदों के समक्ष प्राप्त मतों की गणना की गई। गणना में महापौर पद के लिए धनीराम सोनकर को 18 तथा विजय देवांगन को 22 मत प्राप्त हुए। इस प्रकार श्री देवांगन को उक्त पद के लिए विजयी घोषित कर उन्हें प्रमाण-पत्र प्रदान किया गया। इसी तरह सभापति पद के लिए प्रत्याशी अनुराग मसीह को 25 और  राजेन्द्र शर्मा को 15 मत मिले, जिसके आधार पर श्री मसीह को सभापति के तौर पर विजयी घोषित कर पीठासीन अधिकारी ने उन्हें प्रमाण-पत्र प्रदान किया।
प्रत्येक मत की गणना सभी पार्षदों को दिखाकर की गई। इस दौरान सम्पूर्ण निर्वाचन प्रक्रिया में अनुविभागीय अधिकारी (राजस्व) धमतरी मनीष मिश्रा और आयुक्त नगरपालिक निगम  आशीष टिकरिहा ने निर्वाचन संबंधी दायित्वों का निर्वहन किया।