धमतरी की उपेक्षा दुर्भाग्यजनक,घोषणापत्र के वादों को बजट में कोई स्थान नही मिला – ठाकुर शशि पवार

48

धमतरी | भाजपा जिलाध्यक्ष ठाकुर शशि पवार ने छत्तीसगढ़ सरकार के बजट को घोर निराशाजनक करार देते हुये कहा कि यह प्रदेश के इतिहास में पहला अवसर है जब बजट का आकार बढ़ाने की बजाय घटाया गया। सरकार ने अपने बजट में घोषणा पत्र के वादों को भी कोई स्थान नही दिया है।

किसानों को 2 वर्ष के पिछले बकाया बोनस के लिये अभी और इंतजार करना पड़ेगा। किसान के खेत के पास कारखाने लगाने तथा वहां के स्थानीय लोगों को रोजगार देने के वादे को भी अमली जामा पहनाने के लिये बजट में कोई प्रावधान नही किया गया। धमतरी जिले के विकास के लिये कोई प्रावधान न किया जाना सरकार के पक्षपात को दर्शाता है।


जेम एंड ज्वेलरी पार्क के लिये सर्वाधिक प्रावधान किया गया जबकि छोटे एवं मध्यम व्यवसायियों के लिये कोई प्रावधान नही किया गया है। जिला महामंत्री कविन्द्र जैन ने बजट पर प्रतिक्रिया देते हुये कहा कि शिक्षा एवं स्वास्थ्य के क्षेत्र में विकास के लिये बजट में कोई विज़न नही दिख रहा। आधारभूत संरचना आवास इत्यादि की सारी योजनाएं केंद्र सरकार की है जिस पर राज्य सरकार श्रेय लेने का प्रयास कर रही है। कांकेर महासमुंद और कोरबा में मेडिकल कॉलेज केंद्र द्वारा स्वीकृत है जिस पर भवन के नाम पर कुल 300 करोड़ का प्रावधान राज्य सरकार ने अपने बजट में किया है। वास्तविकता यह कि पिछले वर्ष 6 लाख प्रधानमंत्री आवास राज्य के द्वारा अपना हिस्सा न देने के कारण वापस हो चुके हैं। महिलाओं के लिये कोई नयी योजना नही होना निराशाजनक है। बजट को अर्थशास्त्र की दृष्टि से देखा जाए तो जीडीपी एवं वित्तीय घाटे का अनुपात 5 प्रतिशत से ऊपर जाना प्रदेश की आर्थिक खस्ताहाल को दिखाता है। पूंजीगत व्यय में कमी किया जाना बजट के आकार को छोटा किया जाना तथा कर्ज में लगातार वृद्धि होने से प्रदेश दिवालिया होने के कगार पर पहुंच चुका है जबकि प्रदेश की सरकार शराब और खनन में भ्रष्टाचार में लिप्त है। अपराध का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है महिलाएं अब प्रदेश में कहीं भी सुरक्षित नही है। भुपेश सरकार में विकास को रिवर्स गेयर लग गया है।

tushar