दुकान का नौकर ही निकला चोर, साथियों के साथ मिलकर चुराई साइकिल

482

आरोपियों के कब्जे से तीन साइकिल व घटना में प्रयुक्त टाटा मैजिक टाटा मैजिक जप्त 

धमतरी |शहर के गुरुनानक साइकिल स्टोर के संचालक कंवलजीत सिंग पिता अवतार सिंग निवासी लालबगीचा वार्ड ने  14 सितम्बर  को  कोतवाली  में  रिपोर्ट दर्ज कराया कि  उनके निवास से लगे हुए  गोदाम में चेन्नई से मंगवाई हुई TI कंपनी की 5 नग साइकल MACH CITY मॉडल को  रखा था जिसमें से 2 साइकिल की बिक्री कर चुका था| शेष 3 नग सायकिल अलग-अलग पैकिंग में  रखी हुई थी |   13-14 सितम्बर की दरमियानी रात्रि अज्ञात चोर उनके गोदाम अंदर घुसकर 3 नग TI कंपनी की MACH CITY MUNICH SS700x35xCx19 G Timba Grey/A.Green 1SKD मॉडल साइकिल कीमती 21000 को चोरी कर ली | रिपोर्ट  पर  अज्ञात आरोपी के विरुद्ध धारा 457, 380 भादवि के तहत अपराध पंजीबद्ध कर विवेचना में लिया गया  पुलिस अधीक्षक बी.पी. राजभानु को  इसकी सूचना मिलने पर थाना प्रभारी सिटी कोतवाली को त्वरित कार्यवाही करने  दिशा निर्देश दिए।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे एवं उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय अरुण जोशी के दिशा-निर्देश में थाना प्रभारी सिटी कोतवाली भावेश गौतम  ने स्टाफ के साथ घटनास्थल पहुंचकर बारीकी से निरीक्षण किया | तकनीकी साक्ष्यों को एकत्रित कर संदेह के आधार पर प्रार्थी की साइकिल दुकान में काम करने वाले लोगों से पृथक-पृथक पूछताछ की गई | इस दौरान साइकिल दुकान में काम करने वाले नंद कुमार रजक उर्फ दद्दू 23 वर्ष साकिन रामसागर पारा धोबी चौक धमतरी का जवाब संदिग्ध लगने पर अभिरक्षा में लेकर  पूछताछ  की गई | पहले तो वह गोल मोल जवाब देने लगा |

बाद में  वह  पुलिस के  सामने  टूट गया |  उसने  बताया कि  साथी गुलशन साहू 20 वर्ष साकिन बरपारा दानीटोला धमतरी और  प्रद्युम नेताम 21 वर्ष साकिन विंध्यवासिनी वार्ड धमतरी को इस योजना में शामिल  कर लिया | इसके बाद गोदाम से साइकिल की  चोरी कर टाटा मैजिक वाहन  से  ले  गये | सभी ने  1-1 साइकिल को आपस में बंटवारा कर लिया | नंदकुमार रजक उर्फ दद्दू की निशानदेही पर गुलशन साहू व प्रदुम नेताम के घर में दबिश देकर चोरी की साइकिल बरामद कर ली गई | इस घटना में प्रयुक्त टाटा मैजिक वाहन क्रमांक CG 05 AE 8904 कीमती करीबन 1.50 लाख रुपए को जप्त किया गया | तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है | न्यायिक रिमांड हेतु माननीय न्यायालय के समक्ष पेश किया जाएगा| इस कार्यवाही में  सहायक उपनिरीक्षक संजय लांजे, प्रकाश सोनी, आरक्षक सागर मिश्रा व हरिशंकर सिन्हा का योगदान रहा|