डुबान क्षेत्र के गांवों में पहुंचकर कलेक्टर ने मजदूरों व कमार परिवारों को बांटे सब्जी व मास्क

480

राजेश रायचुरा
डुबान क्षेत्र के गांवों में पहुंचकर कलेक्टर ने मजदूरों व कमार परिवारों को बांटे सब्जी व मास्क
ग्राम पंचायत अरौद डु. व उरपुटी में चल रहे मनरेगा का काम भी देखा
धमतरी। कलेक्टर श्री रजत बंसल ने आज दोपहर धमतरी विकासखण्ड के अंतर्गत आने वाले गंगरेल जलाशय के डूब क्षेत्र के विभिन्न ग्रामों का दौरा किया, जहां पर उन्होंने विशेष पिछड़ी जनजाति कमार परिवारों से गृहभेंट कर चर्चा की तथा उन्हें निःशुल्क सब्जी तथा मास्क का वितरण किया और सामाजिक दूरी का हरहाल में पालन करने की बात कही। आज उन्होंने डुबान क्षेत्र के ग्राम उरपुटी, बरबांधा, कलारबाहरा और अरौद डु. में जाकर सब्जी व मास्क वितरण करने के साथ-साथ महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारण्टी के तहत चल रहे तालाब एवं डबरी निर्माण कार्यों का निरीक्षण कर सोशल डिस्टेंसिंग अपनाते हुए कार्य करने की हिदायत ग्रामीणों को दी। इसके अलावा ग्राम पंचायत अरौद में लघु वनोपज संग्रहण केन्द्र का निरीक्षण कर महुआ, इमली और बैचांदी की आवक तथा उनकी निर्धारित दर पर खरीदी के बारे में भी ग्रामीणों से जानकारी ली।


गंगरेल डूबान क्षेत्र में लाॅकडाउन के दौरान राशन वितरण, मनरेगा कार्यों तथा लघु वनोपजों के संग्रहण से अवगत होने कलेक्टर के साथ-साथ डी.एफ. अमिताभ बाजपेयी और जिला पंचायत की सी.ई.ओ. श्रीमती नम्रता गांधी ने ग्रामीणों के बीच जाकर चर्चा की। उन्होंने सबसे पहले उरपुटी में जाकर सब्जियों का निःशुल्क वितरण किया। इन क्षेत्रों में सब्जी वितरण की आज शुरूआत की गई। विशेष तौर पर इन ग्रामों में रहने वाले सभी कमार परिवारों को बैंगन, लौकी, भिण्डी, बरबट्टी तथा खीरा का वितरण उद्यानिकी विभाग की ओर से किया। इसके बाद ग्राम

उरपुटी में ही मनरेगा के तहत दो डबरी निर्माण के कार्य का निरीक्षण कर सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन की जानकारी ली। इसी दौरान उन्होंने मौके पर कार्यरत सभी मजदूरों को मास्क वितरित किया। इसके अलावा अन्य आवश्यक कार्यों को प्रारम्भ करने के लिए प्रस्ताव तैयार करने पंचायत सचिव को निर्देशित किया। इसके बाद वे ग्राम बरबांधा गए, जहां पर स्वीकृत सड़क निर्माण कार्य को जल्द प्रारम्भ करने के लिए संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए। साथ ही यहां पर स्वीकृत 9.90 लाख रूपए की लागत से चल रहे तालाब गहरीकरण कार्य का भी मौके पर जाकर मुआयना किया। इस दौरान ग्रामीणों ने एक नवीन तालाब निर्माण की भी मांग की, जिस पर सी.ई.ओ. श्रीमती गांधी ने स्वीकृत कर समूहों के माध्यम से मखाना उत्पादन के लिए तैयार करने के निर्देश दिए। तत्पश्चात् ग्राम कलारतराई में जाकर सब्जी एवं मास्क का वितरण स्थानीय ग्रामीणों को किया गया। इसके अलावा ग्राम पंचायत अरौद डुबान जाकर वन अधिकार मान्यता पत्र प्राप्त ग्रामीणों के लिए भी नवीन कार्य प्रारम्भ करने तथा वर्तमान में ग्रामीणों के द्वारा लघु वनोपज के तहत महुआ, इमली और बैचांदी की खरीदी स्थानीय क्रेताओं द्वारा उचित दर पर क्रय किए जाने के बारे में भी जानकारी ली। उक्त संग्रहण केन्द्र का संचालन समूहों के द्वारा किया जा रहा है। यहां पर सामाजिक पेंशन योजना के तहत पात्र ग्रामीणों को मिल रही पेंशन के बारे में भी ग्रामीणों से जानकारी ली तथा नए कार्य तत्काल स्वीकृत कर मनरेगा मजदूरों की संख्या बढ़ाने के बारे में भी कलेक्टर ने संबंधित अधिकारी को निर्देशित किया।
सहायक संचालक उद्यानिकी ने बताया कि डुबान क्षेत्र के ग्रामों में आज से शुरू हुए निःशुल्क सब्जी वितरण के तहत आज ग्राम कुल उरपुटी, कलारबाहरा, बरबांधा, सिलतरा, अरौद डू., पहरियाकोन्हा, खम्मेश्री, पटेलगुड़ा, पटौद, हरफर और मारदापोटी के कुल 306 परिवारों को विभिन्न प्रकार की सब्जियां वितरित की गईं। उक्त सब्जियां जिले के सब्जी विक्रेता संघों के अलावा, उन्नत सब्जी उत्पादकों व दानदाताओं के माध्यम से वितरण सुनिश्चित किया जा रहा है। निःशुल्क सब्जी वितरण का कार्य आगे भी जारी रहेगा।