जिले में राम वन गमन पथ का विकास अमरकंटक की तर्ज पर: मुख्य सचिव ने दिए निर्देश

528
राम वन गमन पथ को लेकर किया नगरी विकासखण्ड का दौरा

| मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल की मंशानुसार प्रदेश सहित जिले में राम वन गमन पथ के विकास एवं क्षेत्र में आवश्यक सुविधाएं उपलब्ध कराने के प्रयास किए जा रहे हैं। इसी तारतम्य में प्रदेश के मुख्य सचिव श्री आर.पी. मण्डल ने आज जिले के नगरी विकासखण्ड के विभिन्न क्षेत्रों का दौरा किया। उन्होंने नर्मदा नदी के उद्गम स्थल अमरकण्टक की तर्ज पर महानदी के प्रादुर्भाव क्षेत्र सिहावा को विकसित करने तथा इसे न सिर्फ राष्ट्रीय स्तर पर बल्कि अंतरर्राष्ट्रीय स्तर पर पहचान तथा ख्याति दिलाने की बात कही। इस दौरान मुख्य सचिव ने ग्राम सिहावा में ग्रामीणों के बीच चैपाल लगाकर उनकी समस्याएं सुनीं तथा सिहावा में राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खोलने के लिए संबंधित विभाग के अधिकारी को निर्देशित किया।


जिले में राम वन गमन पथ के तहत चार प्रमुख स्थलों का चिन्हांकन शासन द्वारा किया गया है। इनमें लोमश ऋषि आश्रम (राजिम), मधुबन धाम (मगरलोड), रूद्री और श्रृंगीऋषि आश्रम सिहावा शामिल हैं। इन स्थलों में सुव्यवस्थित ढंग से संकेतक लगाने, पर्यटन केन्द्र विकसित करने, दुकानों को समुचित जगह विस्थापित करने, शौचालय, विश्रामगृह आदि का बेहतर तरीके से निर्माण कर इस तरह से विकसित किया जाए, जिससे कि प्रदेश के अन्य जिलों में प्रोजेक्ट किए जा रहे राम वन गमन पथ में एकरूपता परिलक्षित हो, जैसा कि कोरिया जिले के भरतपुर में तैयार किया जा रहा है। इसके अलावा मुख्य सचिव श्री मण्डल ने नगरी विकासखण्ड के दुगली को सेन्ट्रल जोन के रूप में स्थापित करने पर जोर दिया, जिससे यहां से क्षेत्र के प्रमुख पर्यटन, आध्यात्मिक एवं दर्शनीय स्थल के रूप में विकसित किए जा रहे सिहावा, जबर्रा, नरहराधाम, मधुबन धाम सहित लघु वनोपज प्रसंस्करण केन्द्र तक पहुंचने के लिए उच्च स्तरीय सुविधाएं उपलब्ध हो सके। इससे न केवल पर्यटकों को आसपास के पर्यटन स्थलों के भ्रमण में आसानी होगी, बल्कि स्थानीय युवाओं को बारहमासी रोजगार के अवसर भी मुहैया होंगे, साथ ही राष्ट्रीय स्तर पर पहचान भी बन सकेगी।
नगरी क्षेत्र के प्रवास के दौरान मुख्य सचिव ने ग्राम पंचायत भवन सिहावा में ग्रामीणों की चैपाल लगाकर उनकी विभिन्न मांगों एवं समस्याओं को सुना। ग्रामीणों के द्वारा सिहावा में राष्ट्रीयकृत बैंक की शाखा खोले जाने की बहुप्रतीक्षित मांग पर तत्काल वित्त विभाग के उच्चाधिकारी से बात की तथा वहां पर बैंक की शाखा खोलने के निर्देश दिए। इस दौरान राइस मिलर्स एसोसिएशन धमतरी के द्वारा सुपोषण अभियान के तहत कुपोषण बच्चों को सुपोषित करने पांच लाख रूपए के चेक का वितरण कलेक्टर श्री रजत बंसल को किया। मुख्य सचिव ने कुपोषण मिटाने के लिए जिले में राईस मिलर्स के द्वारा किए जा रहे सहयोग सराहना करते हुए इसे अनुकरणीय पहल बताया। इस अवसर पर एसपी श्री बीपी राजभानू, जिला पंचायत सी.ई.ओ. श्रीमती नम्रता गांधी सहित विभिन्न विभाग के अधिकारीगण उपस्थित थे।

RAJESH RAICHURA 9425505222