चिटफंड कम्पनी के आरोपी गिरफ्त में, ठगे थे करोड़ो रूपये

470

RAJESH RAICHURA

आरोपी गिरफ्तारी से बचने के लिए लगातार बदल रहे थे अपना पता ठिकाना
आरोपी लोकेशन से बचने लगातार बदल रहे थे अपना मोबाईल नम्बर
आरोपी ताला बंद कर मकान के अंदर रहकर कर रहे थे गुमराह
कोरियर कर्मचारी बनकर छद्म भेष में पुलिस द्वारा किया गया गिरफ्तार
करीबन 80 मोबाईल एवं 160 आईएमईआई नम्बरों का आरोपियों द्वारा किया गया इस्तेमाल

धमतरी | थाना सिटी कोतवाली धमतरी के क्षेत्रान्तर्गत स्थित कुशल काम्पलेक्स बठेना अस्पताल धमतरी के सामने वर्ष 2010 से 2016 तक महानदी एडवायजरी कम्पनी का ब्रांच आफिस खोलकर आम लोगों से लोक लुभावना वादा कर कम समय में अधिक पैसा रिटर्न करने का प्रलोभन देकर निवेशकों से उनकी मेहनत की कमाई को निवेश कराकर महानदी कम्पनी के डायरेक्टर कुलेश्वर सोनकर एवं यशवंत सोनकर, मयंक सोनकर, हेमंत देवांगन, चित्रसेन साहू के द्वारा निवेश की गई राशि को दुर्भावना व कपट पूर्वक अपने स्वयं के हितों में उपयोग कर धोखाधड़ी किया गया कि प्रार्थी मोरध्वज कुम्भकार पिता कंवल सिंह कुम्भकार निवासी सेमरा थाना भखारा की रिपोर्ट पर थाना सिटी कोतवाली धमतरी में अपराध क्रमांक 126/19 धारा 420, 34 भादवि., ईनामी चिटफंड एवं धन परिचालन स्कीम (पाबंदी) अधिनियम की धारा 4, 5, 6 एवं छ.ग. निक्षेपको के हितो के सरंक्षण अधिनियम की धारा 6, 10 कायम कर विवेचना में लिया गया ।
प्रकरण की कायमी के उपरांत से ही आरोपीगण गिरफ्तारी से बचने का प्रयास करते हुए फरार होकर लगातार अपना पता ठिकाना बदलते हुए लुक-छिप रहे थे जिनकी हर संभावित स्थानों में पता तलाश किया गया तथा पूर्व में दो बार टीम तैयार कर बैंगलोर एवं हैदराबाद रवाना किया गया किन्तु आरोपीगण अपराध कायमी दिनांक से फरार होकर लगातार अपना पता ठिकाना व मोबाईल नम्बर बदल-बदल कर लुक छिप रहे थे । श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय श्री बी.पी. राजभानू द्वारा अपने पद्भार ग्रहण करने के उपरांत से ही लगातार फरार आरोपियों की पतासाजी हेतु सायबर सेल टीम एवं थाना धमतरी को निर्देशित किया गया। जिस पर सायबर तकनीकि सेल के द्वारा लगभग हजारों मोबाईल नम्बरों का काल डिटेल व लोकेशन ट्रेस कर बारीकि से अवलोकन करने पर ज्ञात हुआ कि आरोपियान बार-बार मोबाईल सेट व नम्बर बदल रहे थे तथा देश के बडे शहरों दिल्ली, नागपुर, महबूब नगर, बैंगलोर, हैदराबाद, सिकन्दराबाद में अपनी पहचान बदलकर निवास कर रहे थे जिससे आरोपियों का वास्तविक लोकेशन ट्रेस करने में पुलिस को खासी मशक्कत करनी पड़ी ।


श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदया श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे के मार्गदर्शन में संयुक्त पुलिस टीम गठित कर आरोपियों के छुपे होने की संभावना पर टीम को तेलंगाना राज्य भेजा गया जहां पुलिस टीम के द्वारा तेलंगाना राज्य के सिकन्दराबाद (हैदराबाद आन्ध्रप्रदेश) क्षेत्र में अथक प्रयास एवं सूझबुझ के साथ निकटतम स्थानीय पुलिस के सहयोग से ज्ञात हुआ कि सिकन्दराबाद इलाके में रिहायशी कालोनी चन्द्रलोक रेसीडेंसी में स्थित पांचवी मंजिल के फ्लैट के मकान में मुख्य दरवाजे में बाहर से ताला लगाकर अन्दर निवास कर रहे है तथा दरवाजे में बाहर के व्यक्ति को देखने के लिए दूरबीननुमा होल बनाकर रखे थे, तब धमतरी पुलिस टीम के द्वारा सुनियोजित ढंग से कोरियर कर्मचारी बनकर उक्त फ्लैट के मकान में पहुंचकर दरवाजा खुलवाने का प्रयास किया गया, तब अंदर निवासरत् आरोपियों के द्वारा दरवाजा नही खोलने पर बगल के फ्लैट स्वामी से काफी गुजारिश कर उन्हें तैयार कर उनके फ्लैट से सीढ़ी लगाकर आरोपियों के फ्लैट में पीछे से कूदकर अंदर प्रवेश कर आरोपियों को पकड़ा गया तथा निकटतम थाना महाकाली सिकन्दराबाद में ले जाकर आरोपियों से विधिवत् पूछताद कर आरोपी (1)यशवंत सोनकर पिता जीवन लाल सोनकर निवासी ग्राम कोलियारी थाना अर्जुनी जिला धमतरी (2)चित्रसेन साहू पिता विजय साहू निवासी धमतरी की गिरफ्तारी कर उसकी सूचना परिजनों को देते हुए माननीय न्यायालय सिकन्दराबाद से ट्रांजिट रिमाण्ड प्राप्त किया गया है।

इसी दरम्यान प्रकरण के एक अन्य आरोपी के संबंध में पूख्ता सूचना प्राप्त होने पर तत्काल टीम गठित कर टीम को संभावित स्थान पर दबिश हेतु रवाना किया गया, उक्त टीम के द्वारा छूरा जिला गरियाबंद से आरोपी हेमंत देवांगन पिता राधेश्याम देवांगन जो आरोपी कंपनी महानदी एडवायजरी में ब्रांच मैनेजर था, की घेराबंदी कर पकड़कर पूछताछ उपरांत गिरफ्तार किया गया है । गिरफ्तार आरोपियों से की गई पूछताछ पर महानदी एडवायजरी कम्पनी के द्वारा करीब 03 हजार निवेशकों से लगभग 24 करोड़ रूपये धोखाधड़ी एवं लोक लुभावनी स्कीम बताकर षडयंत्र पूर्वक निवेशकों से रूपये प्राप्त कर उनके साथ छलकपट कर निवेशकों के द्वारा निवेश की गई राशि को दुर्भावना पूर्वक अपने स्वयं के हितों में उपयोग किये है ।
श्रीमान् पुलिस अधीक्षक महोदय के निर्देशन एवं अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक महोदया के मार्गदर्शन में थाना सिटी कोतवाली धमतरी के निरीक्षक भावेश गौतम, सउनि. संजय लांजे, प्रआर. अमित सिंह, आर. युवराज सिंह ठाकुर, राजकुमार शुक्ला, थाना प्रभारी मेचका आर.एन. सिंह सेंगर एवं सायबर सेल टीम प्रआर. प्रदीप सिंह, प्रहलाद बंछोर, आर. कुलदीप सिंह राजपूत, कमल जोशी, धीरज डड़सेना, दीपक साहू, सितलेश पटेल, झमेल सिंह राजपूत, मुकेश मिश्रा के द्वारा अथक प्रयास से महानदी एडवायजरी कम्पनी के फरार आरोपियों को गिरफ्तार करने में महत्वपूर्ण सफलता अर्जित किये है । आरोपियों की गिरफ्तारी में पुलिस टीम के द्वारा अथक परश्रिम किया गया है । कम्पनी के अन्य फरार आरोपियों की पतासाजी की जा रही है जिन्हें शीघ्र गिरफ्तार किया जावेगा तथा प्रकरण का निवेशकों के हितों का ध्यान रखते हुए गंभीरता पूर्वक निकाल किया जावेगा ।
गिरफ्तार आरोपियों के नाम:-
1. यशवंत सोनकर पिता जीवन लाल सोनकर निवासी कोलियारी धमतरी
2. चित्रसेन साहू पिता विजय साहू निवासी धमतरी
3. हेमंत देवांगन पिता राधेश्याम देवांगन निवासी सुभाषनगर धमतरी