चिटफंड कंपनियों में उपभोक्ताओं का 10  हजार करोड़ जमा , रकम वापसी के लिए सरकार को याद दिलाये वादे

456

धमतरी | प्रदेश की भोली भाली जनता को रकम दोगुनी करने का लालच देकर कई चिटफंड कंपनियों ने अपना यहां जाल बिछाया | कंपनी की  लोक  लुभावनी  बातों मे आकर  कई परिवारों ने अपनी जिंदगी भर की कमाई कम्पनी में जमा कर दिया | कम्पनी ने रकम जुटाने के लिए  एजेंट तैयार किये |  ये एजेंट घूम-घूम कर  ग्रामीणों को भरोसा  दिलाकर कम्पनी में राशि जमा कराई  | मियाद  खत्म  होने  के बाद जब रकम देने की बारी आई तो कंपनी अपना बोरिया बिस्तर समेट कर भाग गई |

आज भी कई निवेशक अपने खून पसीने की कीमत को पाने चक्कर लगा रहे हैं|  रकम  वापसी को  लेकर निवेशक के साथ-साथ एजेंट भी परेशान हैं | कांग्रेस ने अपने जनघोषणा पत्र में चिटफंड कंपनी में फंसे उपभोक्ताओं की राशि दिलाने की बात कही थी लेकिन अभी तक उपभोक्ताओं को फूटी कौड़ी नहीं मिली है | इस मुद्दे को लेकर अभिकर्ता संघ के अध्यक्ष गगन कुंभकार के नेतृत्व में प्रदेश के सभी जिलों में 15 सितंबर को धरना प्रदर्शन किया गया | धमतरी में गौशाला मैदान में प्रदर्शन कर सरकार को उनके किए गए वादे को याद दिलाया | प्रदेश अध्यक्ष ने बताया कि छत्तीसगढ़ के 1 लाख  50 हजार अभिकर्ता व 20 लाख निवेशक परिवारों को 10  हजार करोड़ पैसा चिटफंड कंपनियों में फंसा हुआ है|

विधानसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस ने अपने घोषणापत्र में कांग्रेस की सरकार बनने पर चिटफंड कंपनियों में फंसे निवेशकों का पैसा वापस दिलाने की बात कही थ | सत्ता में बैठते ही कांग्रेस सरकार अपने वादे को भूल गई | सरकार बने लगभग 2 वर्ष पूर्ण होने को है | वर्तमान में किसी भी निवेशक का पैसा सरकार ने वापस नहीं किया है और न ही नई दिशा में कोई पहल हुई है | पैसा के लिए निवेशक भटक रहे है| राशि नहीं मिलने से निवेशक परिवारों को आर्थिक समस्याओं का सामना करना पड़ा है | प्रदर्शन के बाद राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा गया|