चार खाने जंगल में जाना पड़ा महंगा गवानी पड़ी जान जानिए क्या थी पूरी घटना धमतरी के नगरी क्षेत्र की घटना

153

अपने दोस्तों के साथ जंगल पहाड़ी की ओर चार खाने गए मासूम बच्चे को जान गवानी पड़ी। उस क्षेत्र में मौजूद तेंदुआ ने  हमला कर उसे घायल कर दिया नगरी अस्पताल लाने पर डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। तेंदुआ के हमले से पहली बार उस क्षेत्र में किसी इंसान की मौत हुई है अब तक जानवरों को ही घायल किया करता था। वन विभाग की टीम अस्पताल पहुंच गई है।

नगरी। मिली जानकारी के अनुसार थाना नगरी के सड़कपारा मुकुंदपुर के कुछ लोग लकड़ी के लिए जंगल की ओर गए थे। जिसमें यही का निवासी आशीष 8 वर्ष पिता विशंभर अपने दोस्तों के साथ भी गया हुआ था। लकड़ी वाले वापस लौट रहे थे। आशीष अपने दोस्तों के साथ चार खाने रुक गया ।दोस्त आगे चल रहे थे यह थोड़ा पीछे हो गया। तभी तेंदुआ ने उस पर हमला कर उसे ले गया। उसके दोस्त भागते गांव पहुंचे और लोगों को इसकी जानकारी दी। सभी ग्रामीण अगस्त्य ऋषि आश्रम की तरफ दौड़े, तो देखा तेंदुआ बच्चे को पकड़ा हुआ था। शोर मचाने के बाद तेंदुआ भाग खड़ा हुआ। घायल आशीष को तुरंत नगरी अस्पताल लाया गया जहां डॉक्टर ने मृत घोषित कर दिया। सूचना मिलते ही रेंजर जी एस परमार, डिप्टी रेंजर गोपाल वर्मा सहित वन विभाग की टीम पहुंच गई।


प्रशिक्षु आईफएस और नगरी रेंज के एसडीओ आलोक बाजपाई ने बताया कि इस क्षेत्र में बीच-बीच में तेंदुआ की जानकारी मिलती थी। अब तक जानवरों का ही शिकार करते थे,यह पहली घटना है जब किसी इंसान का शिकार किया गया है। उन्होंने बताया कि मुआवजाका प्रकरण बनाकर भेजा जा रहा है। जल्दी उस परिवार को छह लाख की राशि दी जाएगी ।वन विभाग द्वारा आगे की कार्रवाई की जा रही है।

डीएफओ सतोविशा समाजदार और वन विभाग ने लोगों से अपील की है कि गर्मी के दिनों में जंगली जानवर आक्रमक होते हैं और पानी की तलाश में वे निकलते हैं इसलिए ग्रामीण जंगलों की ओर न जाएं।