गंगरेल बांध को स्वच्छ-सुंदर बनाने और प्लास्टिक मुक्त करने मुहिम शुरू

87

जिले में वृहद प्लास्टिक मुक्त अभियान बना जन आंदोलन ,जनप्रतिनिधियो, सामाजिक संगठनों सहित अन्य वर्गो ने निभायी सहभागिता 29 संस्थाओं के हजारों लोगों ने निस्वार्थ भाव से किया श्रमदान

जिले की पहचान रविशंकर सागर जलाशय (गंगरेल बांध) को स्वच्छ-सुंदर बनाने और प्लास्टिक मुक्त करने मुहिम शुरू की गई है, जो अब बढ़कर जन आंदोलन बन गया है। इस जन आंदोलन की शुरूआत  गंगरेल बांध रेस्ट हाउस परिसर से की गयी।

धमतरी |  कलेक्टर सुश्री गांधी ने कहा कि यह अभियान निरंतर चलने वाला अभियान है, आगे भी समय-समय पर ऐसे अभियान संचालित होते रहेंगे। उन्होंने कहा कि बेहतर होगा अगर हमें ऐसे अभियान की आवश्यकता ही न पड़े, हम सब पाॅलीथीन के उपयोग को बंद करें। कलेक्टर सुश्री नम्रता गांधी ने गंगरेल डेम परिसर को स्चच्छ करने अलग-अलग टीमों का गठन कर अधिकारियों जिम्मेदारी तय की।

अधिकारियों ने अपने-अपने दलों को लेकर् गंगरेल डेम के रेस्ट हाऊस परिसर, पार्किंग स्थल, पार्किंग स्थल मंदिर परिसर, अंगारमोती मंदिर के पीछे, अंगारमोती मंदिर के मेनगेट, बरदिहा रेस्ट हाऊस, अंगारमोती मंदिर के नीचे जाने वाला रास्ता, हनुमान प्रतिमा के आसपास सहित अन्य स्थलों की सफाई कर प्लास्टिक निर्मित पाॅलीथीन, बोतलो आदि की सफाई की, जिसमें 32 मिनी ट्रक कचरा एकत्रित किया गया। इस अवसर पर सभी अधिकारी-कर्मचारियों ने हाथों में तख्ती लेकर प्लास्टिक का उपयोग न करने का संदेश दिया। कलेक्टर सुश्री नम्रता गाँधी  ने इस अभियान को सफल बनाने में अपनी सहभागिता निभाने वाले सभी वर्गो को धन्यवाद दिया है।

इस अवसर पर जिला पंचायत सदस्य खूबलाल ध्रुव, पुलिस अधीक्षक अंजनेय वाष्र्णेय, डीएफओ श्रीमती शमा फारूकी, अपर कलेक्टर  जीआर मरकाम, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक  मधुलिका सिंह, एसडीएम डाॅ विभोर अग्रवाल, संयुक्त कलेक्टर  ऋषिकेश तिवारी, रामकुमार कृपाल, डिप्टी कलेक्टर श्रीमती दिव्या पोटाई,  तेजपाल सिंह ध्रुव आयुक्त नगर निगम  विनय पोयाम, मुख्य सीएमएचओ डाॅ एसके मंडल, सहायक आयुक्त आदिवासी विकास डाॅ रेशमा खान, सहित अन्य अधिकारी, एवं विभिन्न संगठनों के पदाधिकारी, शैक्षणिक संस्थाओं के प्रतिनिधिी स्कूली बच्चे एवं ग्रामीणजन उपस्थित थे।

प्लास्टिक के उपयोग को रोकने चलाया गया हस्ताक्षर अभियान
जिले में आयोजित स्वच्छता अभियान को सार्थक करने  गंगरेल डेम परिसर में हस्ताक्षर अभियान भी चलाया गया, जिसमें जिले के जनप्रतिनिधियों, अधिकारी-कर्मचारी, सामाजिक संगठनों, प्रशिक्षण संस्थाओं, रेडक्रास वालेंटियरर्स, एनएसएस, स्कूली बच्चों, ग्रीन आर्मी, स्वच्छता दीदी, मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी एवं सदस्यगणों और ग्रामीणों ने प्लास्टिक का उपयोग नहीं करने पर सहमति देते हुए अपने हस्ताक्षर किये।

विधायक ओकर साहू स्वच्छता अभियान में हुए शामिल
विधानसभा क्षेत्र धमतरी के विधायक श्री ओकार साहू भी इस स्वच्छता अभियान में शामिल हुए। उन्होंने कहा कि यह पहल बहुत ही सराहनीय है। हम सभी को मिलकर गंगरेल बांध, पर्यावरण को सुरक्षित एवं स्वच्छ रखने की आवश्यकता है। उन्होंने जिलेवासियों से अपील करते हुए कहा कि प्लास्टिक का उपयोग न करें।

स्वच्छता दूत कुंवर बाई के परिजनों को किया गया सम्मानित
स्वच्छता अभियान के तहत् जिले को राष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने वाली कुंवर बाई की बेटी सुशीला और बहु कौशिल्या को अधिकारियों द्वारा सम्मानित किया गया। बता दें कि 21 फरवरी 2016 को देश के प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने डोंगरगढ़ में जिले की कुंवरबाई को सम्मानित किया था।

सीईओ जिला पंचायत ने स्वच्छता एवं मतदान की दिलायी शपथ
गंगरेल बांध रेस्ट हाउस परिसर में आज सीईओ जिला पंचायत सुश्री रोमा श्रीवास्तव ने उपस्थित जिले के जनप्रतिनिधियों, अधिकारी-कर्मचारी, सामाजिक संगठनों, प्रशिक्षण संस्थाओं, रेडक्रास वालेंटियरर्स, एनएसएस, स्कूली बच्चों, ग्रीन आर्मी, स्वच्छता दीदी, मंदिर ट्रस्ट के पदाधिकारी एवं सदस्यगणों और ग्रामीणों को स्वच्छता एवं मतदान की शपथ दिलायी गयी। शपथ में कहा गया कि हम अपने देश की लोकतांत्रिक परंपराओं की मर्यादा को बनाए रखेंगे तथा स्वतंत्र, निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण निर्वाचन की गरिमा को अक्षुण्ण रखते हुए निर्भीक होकर धर्म, वर्ग, जाति, समुदाय, भाषा अथवा अन्य किसी भी प्रलोभन से प्रभावित हुए बिना सभी निर्वाचनों में अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे।

अभियान को सफल बनाने में सभी वर्गो का मिला भरपूर सहयोग, किया गया सम्मान
स्वच्छता अभियान को सफल बनाने में लायन्स क्लब, युथ हास्टल टीम, सिंधी समाज, जैन संगठन, चेम्बर आफ कामर्स, जन जागरण सेवा समिति, औषधि विक्रेता संघ, फुटकर संघ समिति, कल्पवृक्ष सकल जैन महिला ट्रस्ट, दिशा आर्मी टीम, एनएसएस, डिफेंस एकेडमी, फ्रीडम एकेडमी, मां भारती एकेडमी, पीस एकेडमी, वाटर स्पोटर्स, अंगारमोती ट्रस्ट, पीजी काॅलेज धमतरी, बेटर टेक, कन्या शाला, कन्या महाविद्यालय, जननी सेवा संस्थान, युवा दत्तार समिति के अलावा पुलिस, नगर सेना, वन, राजस्व, पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, जल संसाधन, नगर निगम, शिक्षा, महिला एवं बाल विकास विभाग, उद्यान, स्वास्थ्य, कृषि, श्रम, आदिवासी विकास, पीएचई, पशुचिकित्सा, परिवहन, खाद्य, उद्योग, कोषालय सहित अन्य विभागों एवं शैक्षणिक संस्थाओं सहित जिले के प्रिंट एंव इलेक्ट्रानिक मीडिया के प्रतिनिधियों का भरपूर सहयोग रहा। अधिकारियों ने विभिन्न विभागों के अधिकारियों, सामाजिक संगठनों, शैक्षणिक संस्थान को पौधा प्रदान कर सम्मानित किया।

गंगरेल बांध को स्वच्छ रखने आगे आये दुकानदार
गंगरेल बांध परिसर में संचालित स्वच्छता अभियान से जुड़कर अंगारमोती मंदिर परिसर में दुकान संचालित करने वाले दुकानदारों ने पाॅलीथीन का उपयोग न करें की बात कही। इन दुकानदारों ने स्वंय आगे आकर अपनी दुकानों में रखी पाॅलीथीन का समर्पण कार्यक्रम स्थल पर किया। उन्होंने कहा कि हम सभी दुकानदार अब कागज से बनें लिफाफे का उपयोग करेंगे और गंगरेल बांध को स्वच्छ रखेंगे।