क्लोरिन टैबलेट जांच में गुणवत्ताहीन पाए गए,फर्म के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश

393

क्लोरिन टैबलेट जांच में गुणवत्ताहीन पाए गए, फर्म के खिलाफ एफआईआर दर्ज
जिला प्रशासन के संज्ञान में आते ही की गई त्वरित कार्रवाई
धमतरी,  नगरपालिक निगम क्षेत्रांतर्गत गुणवत्ताविहीन अमानक क्लोरिन की आपूर्ति किए जाने की शिकायत मिलने पर जिला प्रशासन द्वारा इसे तत्काल संज्ञान में लेते हुए प्रकरण की जांच के निर्देश दिए गए। जांच में पी.एच.ई. के प्रयोगशाला परीक्षण में क्लोरिन की गोलियां गुणवत्ताविहीन एवं अमानक पाई गई। इस पर प्रशासन के निर्देशानुसार संबंधित फर्म के विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के निर्देश दिए गए हैं।
उक्त शिकायत के संबंध में जानकारी मिलने पर महापौर  विजय देवांगन तथा आयुक्त नगर निगम आशीष टिकरिहा ने उपायुक्त  पंकज शर्मा को मामले की जांच कराने के निर्देश दिए, जिसके बाद सहायक अभियंता  एस.आर. सिन्हा को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया। जांच अधिकारी के द्वारा छह मई को पंचनामा तैयार कर आपूर्ति हेतु लाई गई क्लोरिन टैबलेट गुणवत्ताविहीन प्रतीत होने पर उसकी क्वालिटी का परीक्षण करने लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग को प्रेषित किया गया, जिसकी प्रयोगशाला में जांच के उपरांत टैबलेट का सैम्पल फेल पाया गया। तत्संबंध में गुणवत्ताहीन क्लोरिन टैबलेट की आपूर्ति किए जाने पर प्रदायकर्ता फर्म गोविंद मेडिकल एजेंसीज धमतरी को नोटिस जारी कर 24 घण्टे के भीतर अपना पक्ष प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए। साथ ही संबंधित उप अभियंता (जल प्रभारी) तथा स्टोर कीपर को भी उक्त संबंध में कारण बताओ नोटिस जारी किया गया। उक्त प्रकरण को निगम की एमआईसी में प्रस्तुत किया गया, जिसमें संबंधित एजेंसी को ब्लैक लिस्टेड करने तथा उसके विरूद्ध एफआईआर दर्ज कराने के लिए थाना प्रभारी, सिटी कोतवाली धमतरी को पत्र प्रेषित किया गया। आयुक्त  टिकरिहा ने बताया कि एजेंसी द्वारा आपूर्ति किए गए क्लोरिन टैबलेट का वितरण नहीं किया गया है तथा प्रदायकर्ता फर्म को किसी प्रकार के देयक का भुगतान नहीं किया गया है।