क्रिकेट के धुरंधरों ने दिखाया दम, छत्तीसगढ़ प्रीमियर लीग का ट्रायल सम्पन्न

513

राजेश रायचुरा

धमतरी | छत्तीसगढ़ में होने वाले सबसे बड़े क्रिकेट महाकुंभ सी.पी.एल. टी-20 के लिए आज धमतरी ज़िले के धुरंधरों ने जोर आज़माइश की, ज़िले भर से आये लगभग 60 खिलाड़ियों ने  डयूज़ बॉल क्रिकेट का ट्रायल दिया। ज़िले से 16 खिलाड़ियों का चयन होना हैं जिसके लिए ट्रायल लिया गया हैं, जिसके बाद मार्च में शुरू हो रहें प्री-टूर्नामेंट में प्रतिभागी डिवीज़नल टीम में जगह बनाने के लिए खेलेंगे।

महापौर ने सराहा चयन समिति और ट्रायल के फार्मेट को
खिलाड़ियों का उत्साहवर्धन करने पहुँचे महापौर विजय देवांगन ने चयन समिति के गठन और ट्रायल के फ़ॉर्मेट के लिए ज़िला प्रभारी अमीर हाशमी की प्रशंसा की, महापौर ने कहां कि चयन समितियां इसी तरह निष्पक्ष, पारदर्शी और अनुभव वाली होनी चाहिए। जिला स्तर के ट्रायल मात्र के लिये इतनी तैयारी व अंतराष्ट्रीय मानक पर ट्रायल कराया गया, ज़रूरत पड़ने पर डॉक्टर्स की टीम मौजूद रहीं यह ट्रायल्स का मानक हैं तथा सराहनीय हैं, निश्चित ही इन प्रयासों से ज़िले के खिलाड़ियों को एक नई ऊर्जा मिलेगी और धमतरी के खिलाड़ी विजय होकर लौटेंगे.

ट्रायल समिति में यह रहें शामिल
सेलेक्शन कमेटी में पी.जी. कॉलेज के स्पोर्ट्स प्रोफेसर श्री हाजरा, उच्चतर माध्यमिक शाला हटकेशर के स्पोर्ट्स टीचर श्री नवनीत पचौरी, गोपालपुरी शासकीय उच्चत्तर माध्यमिक शाला के स्पोर्ट्स टीचर सतीश साहू तथा गल्स स्कूल के स्पोर्टस टीचर श्री जे.पी. देव शामिल हुए। अमीर हाशमी ने बताया कि इस क्रिकेट लीग के चेयरपर्सन प्रवीण जैन के चयन प्रक्रिया में भेदभाव को जगह ना देने के स्पष्ट निर्देश हैं। खिलाड़ियों का ट्रायल पूर्णत: निष्पक्षता के साथ हो सकें इसके लिए धमतरी ट्रायल के लिए चयन समिति में केवल शासकीय महाविद्यालय तथा शासकीय विद्द्यालयों के स्पोर्ट्स प्राध्यापकों को लिया गया हैं। हमनें ट्रायल के लिए चयन समिति में निजी स्पोर्ट्स कोंचिंग के सदस्यों तथा यूनियन इत्यादि के लोगों को चयन समिति से बाहर का रास्ता दिखाया हैं ताकि चयन प्रक्रियाओं में पारदर्शिता बनी रहें तथा किसी भी प्रकार के दबाव में योग्य खिलाड़ियों के साथ भेदभाव, भाई-भतीजावाद से बचा जा सकें. आगामी सितम्बर में होने वाले नेशनल “मिनी-ओलंपिक” में भी इसी प्रकार के मापदंड से ट्रायल्स होंगे.

सभी खिलाड़ी पूरी तरह फिट: डॉ. मुकेश शर्मा
फियोथेरिपिस्ट डॉ. मुकेश शर्मा ने ट्रायल से पूर्व सभी खिलाड़ियों का फ़िटनेस टेस्ट लिया और बताया चयनित खिलाड़ी पूरी तरह मैदान के लिए फिट हैं।