क्राइम मीटिंग में पुलिस कप्तान ने की लंबित मामलों की समीक्षा, अपराध रोकने एवं असामाजिक गतिविधियों पर अंकुश लगाने दिए सख्त निर्देश

18

महिला व बच्चों संबंधी शिकायत व रिपोर्ट पर लापरवाही नहीं बरतने दी हिदायत ,वर्ष के अंत तक पेडिंग नगण्य करने तथा लगातार लघु व प्रतिबंधात्मक कार्यवाही के लिए निर्देश

धमतरी ! कुरूद  थाना में आयोजित क्राइम मीटिंग में  शिकायत व अपराध की पेंडेंसी पर  पुलिस अधीक्षक ने थाना प्रभारियों को फटकार लगाई  पुलिस अधीक्षक महोदय के आदेश के परिपालन में थाना प्रभारी कुरूद श्री आर.एन. सिंह सेंगर जब से थाना कुरूद का पदभार ग्रहण किए हैं तब से थाना भवन, परिसर एवं उसके आसपास साफ सफाई पर विशेष ध्यान देते हुए लंबित प्रकरणों का निकाल करने में भी तत्परता दिखाई है, जिसके फलस्वरुप कुरुद थाना एक मॉडल थाना के रूप में उभर कर आया। पुलिस अधीक्षक ने सभी थाना प्रभारियों को मॉडल थाना कुरूद के अनुरूप थाना भवन एवं परिसर की साफ सफाई अव्वल दर्जे की रखने तथा लंबित मामलों में विशेष रुचि लेकर उनका त्वरित निराकरण करने सख्त हिदायत दिया गया है।

दिनांक 08/11/2020 को पुलिस अधीक्षक श्री बी.पी. राजभानू द्वारा पुलिस थाना कुरूद में जिले के राजपत्रित पुलिस अधिकारी एवं थाना व चौकी प्रभारियों के साथ अपराध समीक्षा बैठक ली गई। पुलिस अधीक्षक ने लंबित अपराधों एवं शिकायत की समीक्षा करते हुए त्वरित निराकरण करने व पेंडेंसी कम करने के उद्देश्य से थानावार प्रभारियों से सभी अनसुलझे व लंबित मामलों पर चर्चा कर निकाल हेतु महत्वपूर्ण दिशा निर्देश दिया गया ।

मीटिंग के दौरान पुलिस कप्तान द्वारा महिला संबंधी अपराधों में पुलिस मुख्यालय द्वारा जारी किए गए निर्देशों तथा महिला संबंधी रिपोर्ट एवं शिकायत पत्रों पर किसी भी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतने के कड़े निर्देश दिये गये हैं। साथ ही गुम नाबालिकों की पतासाजी व दस्तयाब कर प्राप्त साक्ष्य के आधार पर वैधानिक कार्यवाही करने निर्देशित किया गया है।

थानावार लंबित अपराध, शिकायत, समंस/वारंट, जप्ती माल, मर्ग की समीक्षा उपरांत वर्ष 2020 के अंत तक लंबित मामले का निराकरण कर नगण्य करने कहा गया है। साथ ही त्यौहारों के मद्देनजर सभी प्रभारी को अपने-अपने थाना क्षेत्र में शांति एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाए रखने हेतु अपने सूचना तंत्र मजबूत कर रात्रि गस्त एवं पेट्रोलिंग को सुदृढ किया जावे। थाना क्षेत्र के बदमाशों पर सतत निगाह रखते हुए उनकी सक्रियता पाए जाने पर विधिवत प्रतिबंधात्मक कार्यवाही करने एवं असामाजिक गतिविधियों जैसे अवैध शराब व मादक पदार्थों की बिक्री, जुआ सट्टा में संलिप्त व्यक्तियों के विरुद्ध अभियान चलाकर वैधानिक कार्यवाही कर उनकी गतिविधियों पर अंकुश लगाने सख्त निर्देश दिया गया।

उन्होंने सभी राजपत्रित अधिकारियों को महिला एवं बच्चों से संबंधित अपराध तथा लंबित गंभीर मामलों की अपने स्तर पर समीक्षा कर निराकरण कराने निर्देशित किया गया है। सभी पुलिस अधिकारियों कर्मचारियों को स्वयं एवं उनके परिवार की कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा हेतु वातावरण में परिवर्तन व ठंड के आगमन पर विशेष सावधानी रखने हिदायत देते हुए कहा कि पुलिसिंग को बेहतर तरीके से गति देने के लिए आवश्यक है कि अधिनस्थ सभी अधिकारी/कर्मचारियों मानसिक एवं शारीरिक रूप से तैयार रहें । ड्यूटी दौरान संक्रमण से बचाव के लिए विशेष सावधानी बरतने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया।

क्राइम मीटिंग में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्रीमती मनीषा ठाकुर रावटे, उप पुलिस अधीक्षक मुख्यालय श्री अरुण जोशी, उप पुलिस अधीक्षक अजाक/यातायात श्रीमती सारिका वैद्य, पुलिस अनुविभागीय अधिकारी नगरी श्री नीतिश ठाकुर, रक्षित निरीक्षक के देवराजू, इकाई के समस्त थाना एवं चौकी प्रभारी, स्टेनो अखिलेश शुक्ला एवं अन्य पुलिस अधिकारीगण उपस्थित रहे।

 

tushar