क्या था धोनी के संन्यास और 15 अगस्त का कनेक्शन ? मैनेजर ने खोला राज

425

दिल्ली | टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी ने शनिवार को 15 अगस्त के दिन इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास का ऐलान कर दिया. धोनी के संन्यास के पीछे 15 अगस्त का क्या कनेक्शन था, इसका खुलासा खुद धोनी के मैनेजर ने किया है.धोनी के मैनेजर मिहिर दिवाकर ने खुलासा किया है कि धोनी के संन्यास के फैसले के लिए 15 अगस्त से बेहतर दिन नहीं हो सकता था. यह धोनी की देशभक्ति को दर्शाता है.धोनी के मैनेजर ने बताया कि उनका पूरा चमकदार करियर भारत के लिए था और लोगों से उन्हें जो प्यार मिला, वह अद्वितीय है.धोनी के संन्यास के लिए 15 अगस्त से बेहतर दिन नहीं हो सकता था.

धोनी का 15 अगस्त को संन्यास लेना यह सब भारत को समर्पित है । यह धोनी की देशभक्ति को दर्शाता है. मैनेजर ने यह भी बताया कि धोनी पिछले कुछ हफ्तों से संन्यास की बात कर रहे थे, लेकिन सही समय का पता उन्हें भी नहीं था.धोनी के मैनेजर ने बताया कि उनका पूरा चमकदार करियर भारत के लिए था और लोगों से उन्हें जो प्यार मिला, वह अद्वितीय है.धोनी की कप्तानी में भारत आईसीसी वर्ल्ड टी-20 (2007), क्रिकेट वर्ल्ड कप (2011) और आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी (2013) का खिताब जीत चुका है. इसके अलावा भारत 2009 में पहली बार टेस्ट में नंबर एक बना था. दिसंबर 2014 में धोनी ने टेस्ट क्रिकेट से अचानक संन्यास की घोषणा कर दी थी. धोनी ने साल 2017 की शुरुआत में ही वनडे और टी20 कप्तानी को भी उसी अंदाज में अलविदा कहा, जिसके लिए वो जाने जाते हैं.