कोविड-19 के प्रसार को रोकने एहतियाती उपायों का पालन करने कलेक्टर ने दिए निर्देश

452

धमतरी | कोविड-19 के पाॅजिटिव केसों की संख्या लगातार बढ़ रही है। इसके अलावा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के कई अधिकारी हैं, जिनका कोविड-19 टेस्ट रिपोर्ट पाॅजिटिव आया है। यह देखा गया है कि बहुत बार कार्यालय परिसर में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन नहीं होता है। इसके मद्देनजर कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जय प्रकाश मौर्य ने सभी अधिकारी-कर्मचारियों को कोविड-19 के प्रसार को रोकने के लिए एहतियाती उपायों का सख्ती से पालन करने के निर्देश दिए हैं। इसके तहत सभी कर्मचारियों के लिए मास्क पहनना अनिवार्य है। केवल लक्षणरहित व्यक्तियों को कार्यालय भवन परिसर में उपस्थित होने की अनुमति दी जाएगी। परिसर भवन में प्रवेश करने और भवन के अंदर चलने और बैठने या कतार में खड़े होने के दौरान लोगों को उनके बीच कम से कम एक मीटर की दूरी बनाए रखनी चाहिए। गलियारों में भीड़़ से सख्ती से बचा जाना चाहिए दूरी अनिवार्य रूप से बनाए रखें। किसी भी स्थान पर पांच या अधिक व्यक्तियों का इकट्ठा होना सख्त वर्जित है।
कोई भी बैठक/सम्मेलन शारीरिक रूप से यथासंभव नहीं होना चाहिए। केवल वीडियो काॅन्फ्रेंस के माध्यम से बैठकें आयोजित की जा सकती हैं। सभी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि उनके स्टाफ कार्यालय में उपस्थित हों। निर्धारित घंटे में काम करें और यदि संभव हो तो अलग-अलग दिनों में अधिकारी/कर्मचारी सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए कार्यालय में कार्य कर सकते हैं। अधिकारी कक्ष/सम्मेलन कक्ष/ मीटिंग हाॅल में रखी गई कुर्सियां की इस तरीके से व्यवस्था की जाए, ताकि सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो सके। एनआईसी सभी अधिकारियों को वीपीएन जारी करना सुनिश्चित कर सकता है, जिससे किसी भी आकस्मिक स्थिति में घर में काम करने की सुविधा हो सके। एनआईसी सभी अधिकारियों के कम्प्यूटर/लैपटाॅप पर वीडियो  कांफ्रेंसिंग उपकरण स्थापित कर सकता है, जिससे कि बैठकों के लिए एवं आकस्मिक स्थिति में अधिकािरयों से सम्पर्क किया जा सके।वाहन चालकों को सोशल डिस्टेंसिंग एवं अन्य एसओपी का पालन करना चाहिए। सेवा प्रदाता अधिकारी द्वारा सुनिश्चित किया जाएगा कि कंटेनमेंट जोन में रहने वाले वाहन चालकों को वाहन चलाने की अनुमति नहीं होगी। डेस्क और कुर्सियों को एक जिगजैग पैटर्न में व्यवस्थित किया जाना चाहिए, ताकि दो कर्मचारी एक-दूसरे से सीधे नहीं बैठक सकते है। सभी कर्मचारियों को अपने हाथों से आंखें, नाक और मुंह को छूने से बचना चाहिए। श्वसन शिष्टाचार का सख्ती से पालन किया जाए। कर्मचारियों को खांसते या छींकते समय मुंह ढंकना चाहिए। टिशू का उपयोग कर, इस्तेमाल किए गए टिशू को नो टच कचरा डिब्बे में फेंक दिया जाए और कम से कम 20 सेकंड के लिए साबून और पानी से तुरंत हाथ धोएं।
कार्यालय परिसर में आगंतुकों का प्रवेश नियंत्रित होना चाहिए। कार्यालय अत्याधिक प्रवेश ना हो, यह सुनिश्चित किया जाए। जहां तक संभव हो कार्यालय के प्रवेश बिन्दु पर डाक की डिलीवरी और रसीद की सुविधा होना चाहिए। सभी अधिकारियों को सलाह दी गई है कि वे अपने स्वयं के स्वास्थ्य का ध्यान रखें और यदि बुखार, सांस की समस्या जैसे लक्षण या अस्वस्थ महसूस कर रहे हैं, तो तुरंत कार्यालय छोड़कर अपने वरिष्ठ अधिकारी को रिपोर्ट करे एवं अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराएं। ऐसे कर्मचारियों को स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार होम क्वारंटाइन किया जाना चाहिए। अवकाश स्वीकृत करने वाले अधिकारियों को सलाह दी गई है कि वे सेल्फ क्वारंटाइन के अनुरोध पर अवकाश स्वीकृत करें। कर्मचारियों को अफवाह फैलाने से सख्त रूप से बचना चाहिए। सभी कर्मचारी जो उच्च जोखिम पर हैं, यानी पुराने कर्मचारी, गर्भवती कर्मचारी और जिन कर्मचारियों के पास अंतर्निहित चिकित्सा स्थितियां हैं, उन्हें अतिरिक्त एहतियात लेना चाहिए। इन कर्मचारियों को किसी भी तरह के फ्रंट लाइन कार्य में सीधे सम्पर्क की आवश्यकता नहीं है।
सभी कमरों/कार्यालयों को दैनिक आधार पर ठीक से साफ किया जाना चाहिए। बार-बार उपयोग में आने वाले स्थान जैसे हैन्डिल, सीढ़ियां, वाॅशरूम इत्यादि को दिन में तीन बार साफ किया जाना चाहिए। यदि कोई अधिकारी/कर्मचारी अपने कमरे को अतिरिक्त रूप से साफ करवाना चाहते हैं, तो वे कर सकते हैं। साबून से बार-बार हाथ धोने की आदत डाले। अल्कोहल-आधारित हैण्ड सैनिटाइजर का उपयोग कम से कम 20 सेकंड के लिए किया जाना चाहिए। पार्किंग स्थल और परिसर के बाहर एक उचित भीड़ प्रबंधन का पालन हो, जिसमें सोशल डिस्टेंसिंग बनाई जा सके। कार्यालय में विभिन्न नियमित सफाई और कीटाणुशोधन का कार्य करें जैसे वर्कस्टेशन टेबल, कीबोर्ड, टेलीफोन, दरवाजे की हैंडल इत्यादि का कीटाणुशोधन से इनकी सतहों को साफ किया जा सकता है। जितना संभव हो कर्मचारियों को अन्य कर्मचारियों के फोन, डेस्क, आॅफिस या अन्य काम के उपकरण का उपयोग करने से बचना चाहिए और उपकरण उपयोग करने से पहले और बाद में उन्हें साफ और कीटाणुरहित करें।
सभी कर्मचारियों को जहां तक संभव हो सीढ़ियों का उपयोग करने की कोशिश करनी चाहिए, जिन्हें सीढ़ी का उपयोग करने में समस्या हो, वे लिफ्ट का उपयोग कर सकते हैं। लिफ्ट में चार से अधिक व्यक्तियों की अनुमति नहीं है। लिफ्ट के अंदर व्यक्तियों को चाहिए लिफ्ट की दीवारों की ओर मुख कर खड़े हो, ना कि एक दूसरे के सामने। लिफ्ट में स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी निर्देशों का पालन हो। गलियारे में लिफ्ट की प्रतीक्षा करते समय छह फीट की दूरी सुनिश्चित करें। केन्द्रीयकृत एसी का उपयोग यदि संभव हो तो नहीं किया जाना चाहिए। कर्मचारियों को एक गेट में उचित दूरी बनाते हुए ही प्रवेश करना चाहिए। गु्रप लंच से सख्ती से बचना चाहिए। जिन व्यक्तियों ने कोविड-19 के लिए परीक्षण हेतु अपने नमूने दिए हैं, वे तुरंत प्रशासन को सूचित करें एवं परिणाम आने तक उन्हें कार्यालय नहीं आना चाहिए। गलियारों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन होना चाहिए। थूकना वर्जित है, अगर कोई भी व्यक्ति थूकता हुआ पाया गया तो सख्त नियमानुसार कार्रवाई किया जाना चाहिए। फाईल एवं रसीद के अनावश्यक प्रयोग को हतोत्साहित किया जाना चाहिए ताकि कागजात के लगातार छूने से संक्रमण से बचा जा सके। सभी अधिकारियों को सलाह दी गई है कि वे कोविड-19 के खिलाफ इस आम लड़ाई में उपरोक्त एहतियाती तरीकों का सख्ती से पालन करें।