कोरोना के तेजी से बढ़ते मामलों को रोकने में प्रशासन पूरी तरह नाकाम

418

कंटेंटमेंट जोन में नहीं बरती जा रही सतर्कता

धमतरी | जिला भाजपा अध्यक्ष ठा. शशि पवार एवं जिला महामंत्री कविन्द्र जैन ने बताया कि धमतरी में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इसकी श्रृंखला को तोड़ने के प्रयास में प्रशासन लगातार उदासीन तथा बेपरवाह बना हुआ है। छग सरकार इस विषय पर कोई गंभीरता नही दिखा रही है और न ही प्रशासनिक स्तर पर कोई कसावट नज़र आ रही है। संक्रमण के मामले तो लगातार बढ़ ही रहे हैं रोजाना कोरोना से मौत के मामले भी सामने आ रहे हैं परंतु प्रशासन मूकदर्शक बने हुये है। उन्होंने बताया कि पिछले सप्ताह धमतरी अनुविभाग के अंतर्गत अनुविभागीय दंडाधिकारी कार्यालय से जारी आदेश क्रमांक 1427 दिनाँक 1 सितंबर 20 को 71 कंटेंटमेंट ज़ोन घोषित किये गये। आदेश क्रमांक 1429 दिनाँक 2 सितंबर 20 को 41 आदेश क्रमांक 1431 दिनाँक 3 सितंबर को 10 आदेश क्रमांक 1435 दिनाँक 4 सितंबर को 22 आदेश क्रमांक 1444 दिनाँक 5 सितंबर को 06 तथा आदेश क्रमांक 1447 दिनाँक 8 सितंबर को 48 कंटेंटमेंट जोन घोषित किये गये। इसकी प्रतिलिपि कलेक्टर सहित निगम आयुक्त मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी संबंधित तहसील कार्यालय सीओ जनपद संबंधित खंड चिकित्सा अधिकारी संबंधित थाना इत्यादि को भी भेजी गई है।

आदेश में स्पष्ट रूप से संबंधित स्थान के 50 मीटर के दायरे को कंटेंटमेंट जोन तथा अतिरिक्त 50 मीटर के दायरे को बफर जोन आदेश दिनाँक से 14 दिवस के लिये घोषित किया गया है बावजूद इसके ऐसे तमाम स्थानों पर जनजीवन सामान्य दिनों की तरह चल रहा है। लोग लगातार संक्रमित हो रहे हैं |लोगों की कोरोना से जान जा रही है परंतु कोई भी जिम्मेदार अधिकारी या संस्था इसे  लेकर गंभीर नही है। कोविड टेस्ट के लिये जाने वालों की शिकायतें रोज मिल रही हैं वहां भी अव्यवस्था का आलम है। संक्रमित लोगों के उपचार में भी स्वास्थ्य विभाग लापरवाही से कार्य कर रहा है। सभी तरफ दहशत का वातावरण है शासकीय कार्यालय बैंक पुलिस थाने इत्यादि सभी स्थानों पर संक्रमण के मामले बहुतायत में मिल रहे हैं | कर्मचारियों के साथ आम जनता पर भी लगातार खतरा मंडरा रहा है। महामारी पर नियंत्रण कैसे हो इसकी चिंता छोड़कर प्रशासन द्वारा आंगनबाड़ियों को खोलने का आदेश जारी कर दिया जाता है। छोटे छोटे बच्चे जो अपनी सुरक्षा स्वयं कर पाने में असमर्थ हैं उनको भी इस बीमारी की आग में झोंकने का काम प्रशासन कर  रहा है जो सर्वथा अनुचित है। भारतीय जनता पार्टी जनहित में यह अपील करती है कि प्रशासन इस विषय को गंभीरता से ले तथा विस्तृत कार्ययोजना बनाकर इस संकल्प के साथ काम करे कि  शहर से तथा जिले से हमे इस महामारी को भगाना है और इसके लिये चाहे जो भी करना पड़े वो हम सब मिल कर करें अन्यथा स्थिति कितनी भयावह हो सकती है इसकी कल्पना भी नही की जा सकती। साथ ही उनके द्वारा यह भी कहा गया कि यदि जिले का  प्रशासनिक अमला  केंद्रीय गृह मंत्रालय द्वारा तथा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय तथा छग शासन द्वारा ततसंबंध में समय समय पर जारी दिशा निर्देशों के परिपालन में तथा प्रचलित प्रक्रियाओं के क्रियान्वयन में लापरवाही करता  है तो जनहित में एक जिम्मेदार राजनैतिक दल होने के नाते पार्टी द्वारा दोषी अधिकारियों पर कठोर कार्यवाही की मांग की जायेगी।