कोरोनाकाल में आंगनबाड़ी खोलना सरकार का आत्मघाती कदम : रंजना साहू

239

धमतरी | कोरोनावायरस के संक्रमण काल में जहां एक ओर स्कूल, कॉलेज तथा सभी संस्थाने बंद है, वहीं दूसरी ओर नवनिहालों कोआंगनबाड़ी भेजा जाना सरकार का आत्मघाती कदम है। उक्त बातें विधायक रँजना डिपेन्द्र साहू ने प्रदेशभर के आंगनबाड़ी केंद्रों को खोले जाने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही है। उन्होंने आगे कहा है कि बच्चे हमारे देश के भविष्य है| इन्हें सुरक्षित रखना हम सब का नैतिक धर्म है| इसे पालन करते हुए प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल को   अपने इस निर्णय को वापस ले और भविष्य की इन सुनहरी पीढ़ी को संजाने, संवारने के लिए अपने कर्तव्य का निर्वहन करे |

उन्होंने आगे कहा कि आंगनबाड़ी केंद्रों में कोरोना संक्रमण के अनेक प्रकरण देखे जा रहे हैं| कई आंगनबाड़ी सहायिका व संयोजिका स्वयं संक्रमित होकर बच्चों के लिए अपने को खतरा महसूस कर रही है। उन्होंने मांग की है कि आंगनबाड़ी केंद्रों को ना खोला जाए तथा जो भी सुविधाएं हैं| बच्चों को घर पर ही उपलब्ध कराया जाए। गौरतलब है कि इस संबंध में विधायक रँजना साहू द्वारा पूर्व में ही प्रदेश के महिला एवं बाल विकास मंत्री अनिला भेड़िया को पत्र लिखकर यध्यान आकृष्ट कराया था कि आंगनबाड़ी केंद्रों को खोला जाना खतरनाक एवं आत्मघाती कदम है |